REWA : विधायक का हाई बोल्टेज ड्रामा : बिजली समस्या का हल न होने पर छुए अधिकारी के पैर, फिर रात में खाई प्याज रोटी, आधी रात समाप्त हुआ धरना

मध्यप्रदेश में अधिकारियों की लालफीता शाही के आगे सांसद-विधायक तक परेशान है। आलम है कि सत्ता पक्ष के विधायक को बिजली समस्या का हल न होने पर अधिकारियों के पैर छुने पड़ रहे है। हालांकि पैर हंसी मजाक में दोनों लोगों ने एक दूसरे के छूए। जिसका वीडियो गुरुवार को सोशल मीडिया में वायरल हो रहा था। वायरल वीडियों में दावा है कि बुधवार की रात भाजपा जिला अध्यक्ष अजय सिंह विधायक को बनाने पहुंचे थे। लेकिन उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ा था।

प्रदेश के करीब 3500 जूडा ने डीन को सौंपा इस्तीफा : रीवा, जबलपुर समेत इन मेडिकल कॉलेजों के 468 PG स्टूडेंट्स बर्खास्त

वहीं देर रात तक विद्युत ​कंपनी के मुख्य अभियंता व अधीक्षण यंत्री बृजेश शुक्ला आफिस में बैठकर विधायक को मना रहे थे। अंत में विद्युत अधिकारियों ने विधायक जी से कहा कि रात में घर चले जाएं। आप भी अच्छे से सोए और हम लोगों को भी सोने दे। आप मान जाइये नेता जी हम आपके पैर छु रहे है। ऐसा सुनते ही विधायक जी खुद पैरो तरफ गए और झुककर एक दूसरे का अभिवादन स्वीकार किया। इसके बाद विधायक धरना समाप्त कर घर चले गए।

ट्रेन के सामने प्रेमी-प्रेमिका कूदे, शरीर के चिथड़े उड़े, तीन दिन बाद युवती की होने वाली थी शादी

बता दें कि मऊगंज से भाजपा विधायक प्रदीप पटेल चार दिन के बाद दूसरी बार धरने पर बीती रात बैठे थे। आरोप है कि पहले उन्होंने बिजली के जले ट्रांसफार्मर व कटी फटी केवल को बदलने के लिए कई बार शिकायत कर चुके थे। जब निराकरण नहीं हुआ तो वे अकेले ही अधीक्षण यंत्री कार्यालय में 67 मांगों को लेकर मौन धरना दिया था। मामले में देर रात प्रभारी मंत्री से लेकर कलेक्टर और विद्युत विभाग के आला अधिकारियों ने समस्या के समाधान के लिए दो दिन का वक्त मांगकर धरना समाप्त कराया था।

शादी का झांसा देकर 60 साल के वृद्ध ने 22 साल की युवती के साथ दुष्कर्म कर बनाया गर्भवती : आरोपी के खिलाफ रेप का मामला दर्ज

दूसरे दिन आनन फानन में मऊगंज एई हरिवंश शुक्ला को हटा दिया गया था। साथ ही 25 में से 4 खराब ट्रांसफार्मर बदल दिए गए। लेकिन 64 विंदुओं का प्रस्ताव अधूरा था। ऐसे में वे बुधवार की शाम 6 बजे से रात 12 बजे तक धरना में बैठे रहे। इस दौरान वे अपने साथ लेकर आए प्याज और रोटी को नमक लगाकर खाया था। साथ ही वे जमीन पर बिछाने के लिए गददा भी लिए थे। हालांकि आधी रात फिर विधायक को मनवाकर घर भेजा गया था।

Powered by Blogger.