SATNA : नगर सैनिक की वर्दी पर लगा दाग : नशे में धुत होमगार्ड जवान ने अपनी पोती की उम्र की लड़की से की छेड़खानी, लड़की की मां ने लात-घूंसे और चप्पल से पीटा

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा जिले के बाद गुरुवार दोपहर सतना के बस स्टैंड में नगर सैनिक की वर्दी पर दाग लग गया है। यहां नशे में धुत होमगार्ड का जवान अपनी पोती की उम्र की लड़की से छेड़खानी कर रहा था। जब लड़की की मां को इसका आभास हुआ, तो उसने जवान की चप्पलों से पिटाई शुरू कर दी। उसके कपड़े भी फाड़ दिए। कुछ देर बाद दुकानदार और अन्य लोग इकट्‌ठे हो गए। मौजूद लोगों ने भी उसे लात-घूंसों से मारा।

वैक्सीनेशन का महाअभियान : टीकाकरण के लिए लोगों को प्रोत्साहित करने वालों को मिलेंगे पुरस्कार, ऑनलाइन पोर्टल का सांसद ने किया शुभारंभ

हालांकि मामले की शिकायत अभी तक कोलगवां पुलिस से नहीं की गई है। दावा है ये नगर सैनिक रामवतार सिंह पिता विशंभर नशे में धुत होकर अक्सर विवाद करता है। कुछ दिन पहले ही उसे रामनगर से हटाकर सतना भेजा गया था। रामनगर में उसने बीएमओ की गाड़ी रोककर गाली-गलौज की थी।

आरक्षक ने कमरे में फांसी लगाकर की खुदकुशी : जांच में जुटी पुलिस

जानकारी के मुताबिक दोपहर करीब 3.30 बजे रामवतार सिंह पिता विशंभर निवासी कोलडीहा बस स्टैंड स्थित वेटिंग रूम में नशे में धुत बैठा था। नगर सैनिक को नशा इस कदर चढ़ा कि उसने वर्दी उतारकर फेंक दी, जबकि पैंट और बेल्ट पहने हुए एक अन्य होमगार्ड जवान के साथ बैठा रहा। कुछ देर बाद एक महिला अपनी बेटी के साथ आई। वह बेटी को वेटिंग रूम में बैठाकर बस के टाइमिंग का पता करने चली गई।

HIGHCOURT : पुलिस अब भरोसे लायक नहीं, मामले की जांच अब CBI करेगी

इसी बीच, आरोपी नगर सैनिक रामवतार ने लड़की से छेड़खानी करते हुए भाग चलने का इशारा किया। इसी दौरान मां पहुंच गई। उसने जवान की पिटाई शुरू कर दी। पिटाई होती देख दूसरा नगर सैनिक भाग गया। ऐसे में लड़की की मां समेत आसपास के दुकानदारों ने उसकी जमकर धुनाई की। बाद में जवान हाथ जोड़कर माफी भी मांगने लगा। मामले में फिलहाल पुलिस से शिकायत नहीं हुई है।

वैक्सीनेशन में फिर नंबर वन बना MP : वर्ल्ड बुक ऑफ रेकॉर्ड ने मुख्यमंत्री को भेजा पत्र..

रामनगर में रह चुका है विवादित

बताया गया, इसी होमगार्ड के जवान ने कुछ दिनों पहले रामनगर बीएमओ की गाड़ी रोककर गाली-गलौज की थी। तब स्वास्थ्य अमले ने पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से शिकायत की थी। जिला ​होमगार्ड कमांडर ने उसे रामनगर से हटाकर सतना अटैच किया था।

Powered by Blogger.