MP : प्रदेश में 10वीं का रिजल्ट जारी : एक भी स्टूडेंट नहीं हुए फेल , 39% फर्स्ट और 43% सेकेंड तो 17% थर्ड डिवीजन से पास

प्रदेश में 10वीं का रिजल्ट जारी कर दिया गया है। स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) और सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री इंदर सिंह परमार माध्यमिक शिक्षा मंडल में सिंगल क्लिक से रिजल्ट जारी किया। पहली बार 10वीं में एक भी स्टूडेंट फेल नहीं हुआ। साढ़े 10 लाख स्टूडेंट्स ने परीक्षा दी थी। इसमें से 3 लाख 56 हजार 582(39%) फर्स्ट, 3 लाख 97 हजार 762 (43.50%) सेकेंड और 15 हजार 871 (17.48%) छात्र थर्ड डिवीजन पास हुए हैं। हालांकि जो भी बच्चे इस रिजल्ट से खुश नहीं हैं, वे आगामी परीक्षा में शामिल हो सकेंगे। यह विशेष परीक्षा 1 से 25 सितंबर के बीच आयोजित की जाएगी।

MP में स्कूल- कॉलेज खोलने को लेकर CM शिवराज का बड़ा संकेत : 50% क्षमता के साथ सप्ताह में चार दिन कॉलेज खुलेंगे

अपना रिजल्ट जानने के लिए यहां क्लिक करें - https://mpbse.mponline.gov.in

पहली बार होगा कि 10वीं का रिजल्ट 100 प्रतिशत छात्र पास हुए हैं। पिछले साल 10वीं बोर्ड की राज्य स्तरीय मेरिट सूची में टॉप 10 स्थानों पर 360 बच्चों ने जगह बनाई थी। इसमें भोपाल के 17 बच्चे थे। परीक्षा में करीब 10 लाख छात्र शामिल हुए थे। इस वर्ष 10वीं का रिजल्ट 62.84 प्रतिशत था। इससे पहले 2019 में 61.32%, 2018 में 66 % रिजल्ट रहा है।

भारत में इस तरह की पहली पहल : अब पारिवारिक मामलों में लोगों को थाने आने की जरूरत नहीं : भोपाल-जबलपुर और ग्वालियर से होगी इसकी शुरुआत

इस तरह बना रिजल्ट

नई प्रणाली के तहत 10वीं कक्षा के नियमित स्टूडेंट्स के लिए अर्धवार्षिक और प्री-बोर्ड व यूनिट टेस्ट और आंतरिक मूल्यांकन के अंक के आधार पर रिजल्ट तैयार किया गया है। इन परीक्षाओं में उपस्थित ना रहने वाले स्टूडेंट्स को 33 प्रतिशत अंक देकर पास किया गया। वहीं, प्राइवेट स्टूडेंट्स को भी 33 प्रतिशत अंक देकर पास किया गया।

MP BOARD RESULTS : पहली बार 100% बच्चे होंगे पास, कल 10वीं बोर्ड के साढ़े 10 लाख स्टूडेंट्स का आएगा परीक्षा परिणाम : ऐसे देखें अपने रिजल्ट्स

बोर्ड ने नई प्रणाली के रिजल्ट से असंतुष्ट छात्रों को परीक्षा का विकल्प भी दिया है। यह विशेष परीक्षा 1 से 25 सितंबर के बीच आयोजित की जाएगी। इसके बाद इसमें प्राप्त अंकों के अनुसार उनकी मार्कशीट जारी की जाएगी। इसके लिए माध्यमिक शिक्षा मंडल ने आदेश जारी किए हैं। यानी जिन छात्रों को सरकार के बोर्ड परीक्षा में अंक देने के मूल्यांकन फॉर्मूले पर भरोसा नहीं है, वे परीक्षा की तैयारी शुरू कर सकते हैं। इसके लिए छात्रों को 1 अगस्त से 10 अगस्त तक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य होगा।

Powered by Blogger.