MP : कक्षा 9वीं की छात्रा के साथ नौ माह से हो रहा था सामूहिक दुष्कर्म : तीन नाबालिग समेत चार आरोपित गिरफ्तार

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

भोपाल । रातीबड़ में 14 साल की एक किशोरी के साथ उसके ही गांव के चार लोग नौ माह से सामूहिक दुष्कर्म कर रहे थे। जब किशोरी गर्भवती हुई, तब पूरा मामला खुलकर सामने आया। किशोरी ने अपने परिजनों के साथ जाकर थाने में शिकायत की। जिसके बाद आरोपितों पर सामूहिक दुष्कर्म समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपितों में तीन नाबालिग हैं।

मामा के लड़के से करती थीं मोबाइल पर बात; चचेरे भाई और परिवार वाले डंडे से पीटते हुए गांव में जुलूस निकाला

रातीबड़ थाना प्रभारी सुदेश तिवारी के अनुसार 14 साल की किशोरी नौवीं कक्षा की छात्रा है। उसके पिता किसान हैं, वह पांच भाई बहनों में चौथे नंबर की है। सितंबर 2020 में उसके गांव में शासकीय योजना के तहत निर्माण कार्य चल रहा था। उस समय एक मजदूर से बात करते समय उसके ही गांव के एक नाबालिग ने उसे देख लिया था। यह देखकर नाबालिग ने छात्रा को रोका और कहा कि वह इस मजदूर से बात करने वाली बात पूरे गांव में बता देगा। छात्रा ने उसे ऐसा करने से मना किया तो आरोपित ने उसकी बात मान ली और उसे गांव के एक मकान में अक्टबूर 2020 को अकेले मिलने बुलाया। जहां नाबालिग आरोपित ने छात्रा के साथ दुष्कर्म किया। बाद में वह अपने दो और नाबालिग दोस्त को लेकर आ गया। इसके बाद नाबालिग आरोपित लगातार उसका यौन शोषण करने लगे थे।

प्रेम की अजब कहानी : लड़की चल नहीं सकती, युवक को आंखों से दिखता नहीं; नौकरी आड़े आई, दूरियां भी बढ़ी पर अंत में प्यार जीता

छात्रा ने पुलिस को बताया कि उसके बाद नवंबर में भी उसके साथ दुष्कर्म किया गया। आरोपितों के साथ गांव के ही 22 साल के आकाश उर्फ अक्कू सेन ने भी उसके साथ ज्यादती की। जब कुछ दिन पहले युवती गर्भवती हो गई और उसके शरीर में बदलाव देखकर उसके परिजनों को शंका हुई तो उन्होंने बच्ची को समझा-बुझाकर उससे इसका कारण पूछा तो किशोरी ने पूरा घटनाक्रम बता दिया। मामला सामने आने के बाद पीड़िता शुक्रवार को परिजनों के साथ थाने पहुंची और आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज करा दिया। पुलिस ने चारों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। बालिग आरोपित भदभदा पर निर्माणाधीन एक पांच सितारा होटल में काम करता है।

Powered by Blogger.