MP : विधानसभा में अब नहीं बोल सकेंगे ये शब्द : प्रमुख सचिव ने बताई यह बात ....

भोपाल। विधानसभा में अब सदस्य पप्पू, फेंकू, बंटाधार, चोर, झूठा, मूर्ख सहित अन्य शब्दों का उपयोग नहीं कर पाएंगे। इसके लिए विधानसभा सचिवालय असंसदीय शब्दों की सूची तैयार कर रहा है। नौ अगस्त से होने वाले विधानसभा के मानसून सत्र के पहले सदस्यों को शब्दों की यह सूची उपलब्ध कराई जाएगी।

छात्रों की शिकायतों के समाधान के लिए माध्यमिक शिक्षा मंडल ने की विशेष व्यवस्था, 1 से 10 सितंबर तक होगी परीक्षा, रजिस्ट्रेशन न कराने वाले छात्र शामिल नहीं हो सकते

विधानसभा के प्रमुख सचिव अवधेश प्रताप सिंह ने बताया कि लोकसभा सचिवालय सहित अन्य विधानसभाओं से ऐसी शब्दों की सूची बुलाई है, जिनका उपयोग नहीं करने की अपेेक्षा सदस्यों से की गई है। इसके साथ-साथ सदन की कार्यवाही के दौरान जिन शब्दों को विलोपित किया गया है, उन्हें शामिल करते हुए मार्गदर्शिका तैयार की जा रही है। कोशिश यह है कि विधानसभा सत्र के पहले यह सदस्यों को वितरित कर दी जाए। बताया जा रहा है कि इसमें नालायक, बेवकूफ सहित अन्य शब्दों को शामिल किया है।

7 साल पहले की थी लव मैरिज : 27 साल की महिला से दोस्त, उसके पिता और जीजा ने कई दिनों तक किया रेप, फिर 60 हजार रुपए में बेचा

विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम का कहना है कि सदन की मर्यादा को बनाए रखने के जिम्मेदारी सभी सदस्यों की होती हैै। हमारा आचरण सदन में ऐसा होना चाहिए, जो दूसरों के लिए मिसाल हो। कई बार आवेग में सदन में ऐसे शब्दों का उपयोग हो जाता है, जिन्हें कार्यवाही से विलोपित करना पड़ता है। ऐसे शब्दों का उपयोग सदस्य न करें, इसके लिए मार्गदर्शिका तैयार कराई गई है। इसे सदस्यों को सत्र के पूर्व दिया जाएगा। साथ ही उन्हें प्रशिक्षण भी दिया जाएगा कि किस तरह उन्हें प्रश्न पूछने चाहिए ताकि उत्तर सदन में ही मिल जाए। सचिवालय ने प्रशिक्षण को लेकर सदस्यों से सहमति मांगी है ताकि इसमें गंभीरता रहे।

12वीं की छात्रा से सोशल मीडिया फ्रेंड ने पार्क में अश्लील वीडियो बनाकर करता रहा ब्लैकमेल : छात्रा घर से चुराकर दिए 60 हजार रूपये : फिर ...

टीका लगवाने के बाद ही मिलेगा सदन में प्रवेश

सदन में सदस्यों को प्रवेश कोरोना टीका लगवाने के बाद ही मिलेगा। उन्हें सचिवालय को इससे संबंधित प्रमाण पत्र बनाना होगा। अधिकारियों का कहना है कि 85 फीसद विधायकों को टीका लग चुका है।

Powered by Blogger.