REWA : प्रभारी मंत्री का रीवा दौरा : पहले दिन पहुँचकर कहा -रीवा के रग-रग से परिचत हूं, बेसहारा हुए बच्चों को बांटे योजनाओं का लाभांश

रीवा. जिले के प्रभारी मंत्री विसाहू लाल पहली बार रीवा पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कहा कि रीवा की धरती को प्रणाम करता हूं। रीवा ने मुझे इस मुकाम तक पहुंचाया। रीवा न होता तो मैं यहां न होता। इस दौरान उन्होंने कहा कि 12वीं से लेकर एमए तक की पढ़ाई रीवा में हुई। इस लिए यहां शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्र की एक-एक गली, मोहल्ले से परिचत हूं। मंत्री ने कहा कि इसी का पुण्य है कि मैं आज फिर रीवा के साथ जुड गया हूं। प्रभारी मंत्री ने कहा कि विधायकों के साथ मिलकर रीवा को प्रदेश का मॉडल बनाएंगे।

दो दिवसीय प्रवास पर विंध्य क्षेत्र के रीवा में आएंगे प्रभारी मंत्री बिसाहूलाल सिंह, जिला योजना समिति की बैठक में होगें शामिल

70 बेसहारा बच्चों को मिली सुरक्षा, प्रदेश में सबसे अधिक

मंत्री ने जिले के बेसहारा 70 बच्चों को पोषण किट के साथ दो-दो हजार रुपए वितरण किए। कलेक्टर इलैयाराजा टी ने दानवीरो की मदद से निजी स्पॉन्सशिप की व्यवस्था बनाई है। चिह्ंित 70 बच्चों सें से 26 बच्चों के माता-पिता नहीं हैं। एक की माता की मौत हो गई है, पिता हैं। 12 ऐसे हैं जिनके पिता का देहांत हो गया है। माताएं जैसे-तैसे पेट पाल रहीं हैं। इसमें कोविड से प्रभावित 20 बच्चे शामिल हैं। ऐसे बच्चों को निजी स्पॉन्सरशिप के जरिए हर माह दो-दो हजार रुपए देने की व्यवस्था की गई है। यह आंकडा प्रदेश स्तर पर सबसे अधिक है। कलेक्टर ने जिले के सभी उद्योगपतियो, व्यापिरयों से आग्रह किया है कि वे निजी स्पॉन्सरशिप के लिए आगे आएं।


पौधरोपण से पर्यावरण को मिलेगा बढ़ावा

प्रभारी मंत्री ने अंकुर योजना का शुभारंभ पौधवितरण कर किया। शहरी क्षेत्र में एक हजार पौधे मुफ्त में वितरण किए जाएंगे करेंगे। मंत्री ने कहा कि वन काटे जा रहे हैं। इस योजना से पर्यावरण संरक्षित होगा। उन्होंने सभी से अपील किया गया कि एक-एक पौधे सभी रोपें। कलेक्टर ने बताया कि अंकुर योजना के तहत गांव-गांव लोग पौधरोपण कर ऐप पर लोड कर रहे हैं। संचालन जिला समन्वयक प्रवीण पाठक ने किया।

Powered by Blogger.