MP : थाने में 14 साल की नाबालिग का प्रसव : महिला स्टाफ की मदद से थाना प्रभारी ने नाबालिग लड़की का थाने में ही कराई डिलीवरी : दुष्कर्म की शिकायत करने आई थी थाने

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें


छिंदवाड़ा शहर के कुंडीपुरा थाने में 14 साल की नाबालिग का प्रसव पीड़ा हाेने लगी। नाबालिग दुष्कर्म की शिकायत करने आई थी। थाने में हड़कंप मच गया। थाना प्रभारी पीड़िता को थाने के खाली कमरे में ले गईं और महिला स्टाफ की मदद से प्रसव कराया। नाबालिग और बच्चा दोनों ठीक हैं, उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया है।

EOW को भ्रष्ट अफसर या कर्मचारी के खिलाफ जांच के लिए संबंधित विभाग से अब नहीं लेनी होगी इजाजत : राज्य शासन ने एक्ट में जोड़ी गई धारा (17A) हटाई

घटना मंगलवार देर शाम की है। थाना प्रभारी पूर्वा चौरसिया के मुताबिक एक 14 साल की नाबालिग दुष्कर्म की शिकायत कराने कुंडीपुरा थाने आई थी, तभी उसके पेट में दर्द उठ गया। थाने में की महिला कांस्टेबल और एक काम करने वाली महिला की मदद से कमरे में ले जाकर उसका प्रसव कराया। प्रसव के बाद पीड़िता को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।

शिवराज कैबिनेट की बैठक में निर्णय : तबादलों की समय सीमा 1 सप्ताह और बढ़ी

शादी का झांसा देकर किया था दुष्कर्म

शिकायत लेकर आई पीड़िता ने बताया था कि उसी के गांव के आकाश पुत्र सुनील युवनाती ने शादी का झांसा दिया था। इसमें वह फंस गई और वह दबाव बनाकर दुष्कर्म करता रहा। पीड़िता के अनुसार आरोपी आकाश उसे 9 महीने से शादी की बात कहकर थाने आने से रोक रहा था। तीन दिन पहले वह शादी से मुकर गया। इसके बाद पीड़िता थाने आई थी। थाना प्रभारी पूर्व चौरसिया ने बताया कि पीड़िता की शिकायत पर आरोपी आकाश को हिरासत में ले लिया है। उस पर दुष्कर्म और पाॅक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।



Powered by Blogger.