REWA : सत्ता की धौंस : भाजपा विधायक पंचूलाल प्रजापति और सहयोगियों के खिलाफ जान से मारने की धमकी व SC/ST एक्ट में फंसा देने की शिकायत थाने कराई दर्ज

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

मनगवां विधानसभा से भाजपा विधायक पंचूलाल प्रजापति और सहयोगियों के खिलाफ जान से मारने की धमकी व SC/ST एक्ट में फंसा देने की शिकायत थाने में की गई है। उक्त शिकायत आरटीआई व सामाजिक कार्यकर्ता प्रकाश तिवारी साथियों के साथ मनगवां थाने पहुंचकर दर्ज कराई। जहां उन्होंने विधायक के खिलाफ आवेदन दिया है।

अब नीमच, सतना, रीवा, हरदा के बाद अब सीधी में बर्बरता : मामूली विवाद पर लोगों ने युवक को जमकर पीटा, हाथ जोड़कर छोड़ने की लगाता रहा गुहार ....

आरोप है कि विधायक समर्थक व उनके निजी सहायक सत्ता की धौंस दिखाते हुए फर्जी केस लगवाने की धमकी दी है। वहीं, जब इस संबंध में रीवा मीडिया ने जब विधायक के मोबाइल पर फोन किया तो वे नहीं रिसीव किए, जबकि मनगवां थाना प्रभारी कार्यवाहक निरीक्षक केपी त्रिपाठी ने शिकायत आने की बात स्वीकार करते हुए जांच की बात कही है।

अब रिंग रोड से मिलेगा रीवा : 190 करोड़ की लागत से 13 KM की फोरलेन सड़क का निर्माण, हैदराबाद की वशिष्ठ कंपनी को मिला काम

सड़क निर्माण रोकने के पत्र से हुई घटना की शुरूआत

बता दें, 19 अगस्त को विधायक ने महाप्रबंधक मप्र ग्रामीण विकास प्राधिकरण परियोजना इकाई रीवा नंबर 2 को पत्र लिखा है। विधायक ने कहा है कि ग्राम पंचायत तिवनी क्षेत्र में बन रही प्रधानमंत्री रोड तिवनी-महमूंदपुर ठकुरान टोला से कांव टोला, जो पूर्व में सड़क अधूरी है। उसमें आराजी नंबर 1902,1903,1904,1905 और 1943 के भूमि स्वामी महेन्द्र तिवारी एवं अन्य के बगैर स​हमति से रोड का निर्माण प्रस्ताव भेजा गया है। ऐसे में उसका निर्माण न कराया जाए। ये पत्र 10 दिन पहले सोशल मीडिया में वायरल हुआ था।

रेवांचल बस स्टैंड की सुधरी व्यवस्था : वर्षों से चल रही मनमानी पर लगा विराम, कलेक्टर का अल्टीमेटम; 30 मिनट से ज्यादा बसें खड़ी दिखीं तो होगी कार्यवाही

इसके बाद भाजपा विधायक की जमकर किरकिरी हुई थी। पांच दिन पहले तिवनी गांव के लोगों ने सड़क निर्माण न रोकने का ज्ञापन एसडीएम मनगवां को सौंपा था। तब से विधायक समर्थक तिवनी गांव के लोगों के​ खिलाफ हो गए।

जान से मारने की धमकी

ग्रामीणों का आरोप है कि ज्ञापन के बाद से विधायक और उनके साथियों द्वारा जान से मारने की धमकी दी जा रही है। यही नहीं, बीते दिनों अज्ञात वाहन से एक्सीडेंट कर जान से मरवाने का भी प्रयास किया गया था, लेकिन दुर्भाग्य से बच गए। घटना के बाद से प्रकाश तिवारी और उनके साथियों के घर में डर का माहौल है। विधायक के निजी सहायक कमल किशोर पाण्डेय कहते है कि हमारी सरकार है, जो चाहेंगे वो होगा, नहीं सबको नष्ट करा देंगे। साथ ही, SC/ST एक्ट लगवाने की धमकी दी है।

निजी सहायक की ओर से थाने में शिकायत करने की चर्चा

सूत्रों की मानें तो दो दिन पहले विधायक पंचूलाल प्रजापति के निजी सहायक कमल किशोर पाण्डेय ने मनगवां थाने में एक शिकायत भेजी है। शिकायत में लिखा है कि प्रकाश तिवारी निवासी तिवनी ने एफबी में एक पोस्ट डाली है। जिसमें वे सड़क और विधायक के पत्र को जोड़कर एक जानकारी साझा की थी। जिस पर जाति सूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए गालियां दी गई थी। जो जघन्य अपराध है अतः तत्काल प्रकरण दर्ज कर कार्यवाही सुनिश्चित करें।

दोनों शिकायत की चल रही जांच: थाना प्रभारी

मनगवां थाना प्रभारी केपी त्रिपाठी ने बताया है कि रविवार की दोपहर आरआईटी कार्यकर्ता प्रकाश तिवारी अपने साथियों के साथ थाने पहुंचकर लिखित शिकायत किए थे। जिसकी जांच एसआई आरएम प्रजाप​ति को सौंपी गई है। वहीं विधायक के निजी सहायक द्वारा भेजी गए आवेदन को भी जांच में लिया गया है। सूत्रों की मानें, तो क्षेत्र में चर्चा है कि विधायक के खिलाफ लिखित आवेदन आने के बाद मामला पेचीदा हो गया है। कई जगह भाजपा सरकार की किरकिरी हो रही है। वहीं, ग्रामीण गांव विकास को लेकर सड़क बनवाने की मांग कर रहे हैं।

Powered by Blogger.