REWA : अधिकारी ले रहे मलाई, जनता लगा रही गुहार : समस्या से निजात पाने खटखटा रहे दरवाजे तभी भी मिली निराशा : 20 साल से झेल रहे समस्या

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें


रीवा शहर की पॉश कॉलोनी से लगी एक बस्ती में रहने वाले लोग वर्षों से नरकीय जीवन जीने को मजबूर हैं। यहां कभी भी जाओ, सड़क पर गंदा पानी भरा मिलेगा। इस बस्ती में रहने वालों ने समस्या से निजात पाने के लिए दरवाजे पर दस्तक दी, लेकिन अभी तक सिर्फ निराशा ही मिली है। मीठे पानी की सुविधा भी आज तक यहां नहीं पहुंची है।

युवाओं को रास आ रहा देशी- विदेशी सुट्टा, सुट्टा लेते ही उत्तेजित हो जाते हैं युवा ; सड़कों पर दिखती है फिल्मी अंदाज में मारपीट

इसी तरह नेहरू नगर से लगी नई बस्ती में पन्द्रह घर बने हैं। जहां साठ से ज्यादा लोग रहते हैं। इस बस्ती में सड़क तो बनी हैं, लेकिन इसकी ऊंचाई कम होने और नाली न होने से पानी भरता है। साल भर सड़क पर पानी भरा रहता है। जहां से पैदल निकलना मुश्किल होता है।

महिला सरपंच के घर छापेमार कार्यवाही : 20 करोड़ से ज्यादा की दौलत का खुलासा, रजिस्ट्री के पन्ने पलटते-पलटते थक गई लोकायुक्त की टीम : 40 सदस्यीय दल कार्रवाई में लगा

20 साल से झेल रहे समस्या

निवासी जगन्नाथ सिंह ने बताया कि लगभग 20 साल से हम लोग यह समस्या झेल रहे हैं। नगर निगम, पार्षद और सीएम हेल्पलाइन में कई बार गुहार लगाने के बाद भी निराकरण नहीं हुआ। दिनों-दिन समस्या और बढ़ती जा रही है। इस बस्ती में रहने वाले अनुसुईया प्रसाद द्विवेदी कहते हैं कि नाली न होने पूरा पानी घरों के सामने सड़क पर एकत्रित होता है। वर्षो से एकत्रित गंदे पानी की वजह से दुर्गंध बनी रहती है। ऐसे में गंदगी से बुरा हाल है।

हे ! प्रपंच परमेश्वर : 30 गाड़ियों की मालकिन निकली बैजनाथ गांव की महिला सरपंच, अब तक 12 करोड़ की प्रॉपर्टी मिली

गांव से भी बदतर हालत

राजू कर्चुली कहते हैं कि गांव से भी बदतर हालत हैं। कई लोग परेशान होकर अपने घर किराए पर देकर खुद किराए पर रहने चले गए हैं। न तो नाली बनाई जा रही है और न ही मीठे पानी की पाइप लाइन यहां पहुंचाई गई है। कलावती सिंह ने कहा कि यहां जिस तरह गंदगी है, उससे आए दिन लोग बीमार होते हैं। मच्छरों ने जीना दुश्वार कर दिया है। समझ में नहीं आता कि क्या करें। कोई भी परेशानी को दूर करने में रूचि नहीं दिखा रहा।

Powered by Blogger.