MP में कोरोना को लेकर नए निर्देश जारी : व्यापारी वर्ग फिर परेशान, ट्रांसपोर्ट से लेकर शादी हॉल, मॉल, सिनेमा, बाजारों पर पड़ेगा सीधा असर

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना को लेकर नए निर्देश जारी किए हैं। इसके बाद कई तरह की आशंका चलने लगी हैं। अब इसका असर ट्रांसपोर्ट से लेकर शादी हॉल, मॉल, सिनेमा, बाजारों पर सीधा पड़ने वाला है। CM के अचानक आदेश जारी करने के बाद व्यापारियों का कहना है कि कुछ दिन पहले सभी चीजें खोलने के निर्देश जारी किए थे। स्थिति सामान्य होने लगी थी, लेकिन अचानक निर्देश देकर बंद करने का क्या मतलब है? अगर पहले से आशंका थी, तो इसे खोला ही क्यों?

CM के निर्देश के मायने

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना की स्थिति को देखते हुए तैयारी करने के निर्देश दिए हैं। एक बार फिर से सैंपलिंग की संख्या बढ़ाई जाएगी। दवाओं की उपलब्धता बढ़ाई जाएगी। सभी तरह के इंजेक्शन, दवाओं, ऑक्सीजन, अस्पताल और बिस्तरों की संख्या को बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। संदिग्ध पाए जाने पर फिर से आइसोलेशन में रखा जाएगा। सरकार और WHO के निर्देशों का सख्ती से पालन किया जाएगा। स्कूलों को 50% से ही चलाई जाएंगी। ऑनलाइन पढ़ाई की जाएगी। कलेक्टर और SP समेत सभी को निर्देश दिए जाएंगे। पूरा प्रदेश अलर्ट पर रहेगा। कार्यक्रम पर प्रतिबंध अभी नहीं लगा रहे, लेकिन नजर रख रहे हैं। मास्क लगाएं और दूरी बनाएं।

व्यापारी वर्ग फिर परेशान

कैट के विवेक साहू ने बताया कि इस तरह से अचानक चीजें बंद होने से व्यापारी टूट जाएगा। अगर पहले से आशंका थी, तो 17 नवंबर को पूरी क्षमता के साथ खोलने के निर्देश क्यों दिए गए। अभी कुछ स्थिति सुधरना शुरू हुई थी, लेकिन रविवार दोपहर अचानक आए निर्देश के बाद कई तरह की आशंका जन्म लेने लगी हैं। कई व्यापारियों से बातचीत हुई है। हम सरकार के निर्देशों का पालन करेंगे। इसके लिए जल्द ही व्यापारी संघों की बैठक कर कोरोना पर नजर रखने के साथ ही बाजारों में कैसे कोरोना गाइड लाइन का पालन कैसे कराएं, उस पर रणनीति तैयार करें। लोगों का स्वास्थ्य सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है।

अभी तो बुकिंग शुरू हुई थी

टेंट एसोसिएशन के उपाध्यक्ष महेंद्र लाल ने बताया कि दो साल बाद शादियों को लेकर बुकिंग होना शुरू हुईं। अभी तक 200 लोगों की लिमिट होने के कारण बुकिंग नहीं हो रही थीं। प्रयास के बाद शासन ने 17 नवंबर को क्षमता 300 कर दी। ऐसे में दिसंबर, जनवरी और फरवरी तक की बुकिंग हो चुकी थी। रविवार को अचानक आदेश जारी होने के कारण अब एक बार फिर से कई शंका होने लगी हैं।

अगर शादी के लिए संख्या कम की जाती है, तो बैंड से लेकर टेंट, शादी हॉल, किराना, सब्जी, डेयरी और घोड़ा उपलब्ध कराने वालों पर बुरा प्रभाव पड़ेगा। कोरोना गाइड लाइन का पालन करना जरूरी है, लेकिन स्थिति को बिगड़ने से रोकने के सभी उपाय किए जाना जरूरी है।

यहां पर सीधा असर हो सकता है

पब्लिक ट्रांसपोर्ट जैसे लो-फ्लोर बस, स्कूल बस, शादी हॉल, सिनेमा हॉल, मॉल, बाजार और कॉलेज पर पड़ेगा। उच्च शिक्षा मंत्री सोमवार को कॉलेज को लेकर नाई गाइड लाइन जारी कर सकते हैं।

अब 100% की जगह 50% ही चलेंगे स्कूल : पेरेंट्स के विरोध को देखते 6 दिन में ही आदेश वापस : नया आदेश सोमवार से लागू



Powered by Blogger.