REWA : करोड़ों रुपए की ठगी करने वाले सेना के जवान की लग्जरी कार जब्त, अब तक 61 लाख की FIR दर्ज

करोड़ों रुपए की ठगी करने वाले सेना के जवान को रीवा पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश करते हुए एक दिन की रिमांड पर लिया है। सूत्रों का दावा है कि आरोपी फौजी के कब्जे से लग्जरी कार जब्त कर ली गई है। वहीं अब तक 61 लाख रुपए की धोखाधड़ी की FIR दर्ज हो चुकी है।

सिटी कोतवाली पुलिस ने 27 लाख के फर्जीवाड़े की तीन एफआईआर दर्ज की थी। जबकि सिविल लाइन पुलिस ने आधा दर्जन शिकायतों के बाद 34 लाख के फ्रॉड का मामला कायम किया है। चर्चा है कि मुंबई की रहने वाली प्रेमिका की ठगी में भूमिका नहीं मिली है। ऐसे में उसका नाम और पता नोट कर छोड़ दिया है। साथ ही पुलिस जांच में सहयोग करने की अपील की है।

क्रिप्टो करेंसी स्कीम के नाम पर लोगों को फसाता था सेना का जवान : बोला सुबह पैसे लगाओ शाम को डबल, खुद अपहरण की साजिश रच मांगी 20 लाख की फिरौती

एएसपी शिवकुमार वर्मा की मानें तो मेरठ में पदस्थ सेना के जवान पुष्पेंद्र यादव (32) निवासी घोरहा (थाना लौर) को गिरफ्तार कर लिया है। प्राथमिक जांच में चार बैंक खाते मिले है। जिसमें एसबीआई बैंक सहित तीन अन्य बैंकों में एकाउंट पाया गया है। हालांकि आरोपी ने पेटियम के जरिये करोड़ों का लेन देन किया है।​ उसके पास से जो मोबाइल बरामद हुआ है। उसकी कॉल डिटेल खंगाले जा रहे हैं। इसके साथ ही पुलिस यह जानकारी भी जुटा रही है कि धोखाधड़ी कर जुटाई गई रकम से आरोपी ने क्या-क्या खरीदा है।

सिविल लाइन थाने में 34 लाख की FIR दर्ज

थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपी फौजी के खिलाफ सिविल लाइन थाने में 34 लाख की धोखाधड़ी की कई एफआईआर दर्ज हुई है। इसी तरह लौर थाने में कई प्रकरण दर्ज हुए है। कुछ दिन पहले सिटी कोतवाली में 27 लाख की धोखाधड़ी का अपराध कायम किया गया था। वर्ष 2015 में सेना की नौकरी ज्वाइन करने वाले आरोपी पुष्पेन्द्र यादव को सिविल लाइन पुलिस ने कस्टडी में लिया है। दावा है कि गुरुवार शाम तक और एफआईआर की संख्या बढ़ेगी। वहीं पुलिस विभाग में चर्चा है कि अगर पूछताछ पूरी नहीं होती तो रिमांड अवधि और बढ़ाई जा सकती है।

फौजी ने स्वीकारी ढाई करोड़ की धोखाधड़ी

सूत्रों की मानें तो आरोपी फौजी से एसपी नवनीत भसीन से लेकर एएसपी शिवकुमार वर्मा और डीएसपी रैंक के कई अधिकारी पूछताछ कर चुके है। सेना के जवान ने प्रारंभिक पूछताछ में ढाई करोड़ की धोखाधड़ी किए जाने की बात स्वीकारी है। लेकिन अधिकारियों का मानना है कि रकम और भी ज्यादा हो सकती है। उधर आरोपी की गिरफ्तारी से संबंधित थानों में पीड़ित लगातार पुलिस से सम्पर्क कर शिकायत कर रहे है। थाना पहुंचकर ज्यादातर लोग दावा कर रहे है कि फौजी ने हमको भी शिकार बनाया है।

गिरोह की चल रही जांच

दिल्ली स्थित BTC कंपनी की क्रिप्टो करेंसी स्कीम में एक दिन में पैसा डबल करने का झांसा देने वाले पूरे गिरोह की रीवा पुलिस जांच कर रही है। पुलिस का दावा है कि BTC कंपनी में कौन-कौन लोग शामिल है। इसकी जांच भी पुलिस कर रही है। माना जा रहा है कि जिस तरह इसने अपना नेटवर्क फैला रखा था, उसे देखते हुए पीड़ितों की संख्या बढ़ती जाएगी। वहीं दूसरी तरह पुलिस मेरठ स्थित सेना के अधिकारियों से भी संपर्क करने का प्रयास किया है। जिससे पता चल सके कि वह कब से कब तक ड्यूटी पर था। एक साथ कैसे दो कार्यों का संचालन कर रहा था।

फौजी निकला ठगी का मास्टरमाइंड : 50 लाख की लग्जरी कार से चलता था आरोपी, एक का डबल बताकर करोड़ों रु.किए अंदर : मुंबई की गर्लफ्रेंड भी शामिल

Powered by Blogger.