REWA : जनता का मोह : रीवा कलेक्टर का स्थानांतरण रुकवाने युवक ने की CM helpline में शिकायत

( ग्राउंड एमपी 17 ऋतुराज द्विवेदी की रिपोर्ट ) रीवा। (REWA NEWS ) मात्र साल भर या कुछ महीने का कार्यकाल। इतने कम समय मे तो पहचान बनाना भी मुश्किल होता है। जिले की भौगोलिक और राजनैतिक स्थिति को समझने मे ही समय बीत जाता है। लेकिन अपनी लगन, कर्मठता,सादगी, शालीनता और जनता से सीधा सम्वाद तथा प्रशासनिक कुशलता आदि गुणों के कारण न सिर्फ डॉ. इलैया राजा टी ने अपनी अलग पहचान बनाई बल्कि लोगों के दिल मे भी जगह बनाई। वो भी ऐसी जगह बनाई कि अपने नाम के अनुसार एक राजा की तरह लम्बे समय तक रीवा के लोगों के दिलों मे राज करते रहेंगे। 

कलेक्टर इलैयाराजा टी के स्थानांतरित होने से उनके चाहने वालों को लगा झटका, जनता ने कहा DM हो तो ऐसा...

विपरीत परिस्थितियों में किया काबिले तारीफ का काम 

इलैया राजा टी ने कोविड की जिन विपरीत परिस्थितियों मे रीवा का नेतृत्व किया वह काबिले तारीफ था। यह रीवा का सौभाग्य ही था कि कोरोना काल मे रीवा को इलैया राजा टी जैसा सम्वेदनशील कलेक्टर मिला। इलैया राजा और विधायक राजेंद्र शुक्ला की जोड़ी ने रीवा को कोविड की आपदा से सुरक्षित निकाला। 

अस्पतालों में भी डटे रहें 

उन्होंने खुद कोविड वार्ड मे जा जाकर मरीजों और डॉक्टरों की हौसला आफजाई की। सुपर स्पेशिलिटी ,संजय गांधी और जिला चिकित्सालय की बिगड़ी व्यवस्था को पटरी पर लाने मे जुटे रहे। रीवा के इतिहास मे यह पहला अवसर था जब कोई कलेक्टर , डॉक्टर कालोनी जाकर बंगले मे पैसा कमा रहे डॉक्टरों को कर्तव्य बोध कराया हो।

रीवा जिला के नए कलेक्टर होंगे मनोज पुष्प : इलैयाराजा टी का जबलपुर के लिए स्थानांतरण

चिकित्सा ही नहीं शिक्षा, राजस्व,सहकारिता और अन्य क्षेत्रों मे उनके द्वारा किए गए सुधार हमेशा याद रहेंगे। लम्बित राजस्व प्रकरणों, सीमांकन,सी एम हेल्पलाइन आदि के निपटारे के लिए उन्होंने जिस तरह अधिकारियों को लक्ष्य दिए उससे रीवा के लोगों को बहुत राहत मिली। 

किसानो पर भी नज़र 

किसानो को खाद आसानी से मिले, साथ ही धान ख़रीदी केंद्रों पर उन्होंने जिस तरह सख्ती दिखाई वह किसानों के लिए वरदान साबित हुई।इलैया राजा का प्रशासन जितना सख्त था ,उतना ही वे गरीबों और समस्या लेकर आने वालों के लिये उदार थे। 

जनसुनवाई पर भी नज़र 

जनसुनवाई मे पूरे समय खुद बैठकर तत्काल समस्या का निराकरण करते थे, भ्रष्टाचारियों  पर सख्त कार्यवाही करते थे।सुबह से लेकर देर रात कहीं भी निरीक्षण करने पहुंच जाना उनकी खूबी थी। कुल मिलाकर इलैया राजा टी का कार्यकाल रीवा के इतिहास मे स्वर्ण अक्षरों मे लिखा जाएगा और वे रीवा वासियों के दिलों मे लम्बे समय तक राज करते रहेंगे। यद्यपि उनकी काबिलियत को ध्यान मे रखते हुए उन्हें जबलपुर जैसा बड़ा जिला मिला है किन्तु अल्प समय मे उनका यहां से स्थानांतरण रीवा के लिए अच्छा नहीं कहा जाएगा। 

स्थानांतरण रुकवाने युवक ने की शिकायत 

कलेक्टर की ईमानदारी से प्रभावित युवक ने की सीएम लाइन में शिकायत. बीते कल रीवा कलेक्टर इलैया राजा टी का जबलपुर के लिए हुआ था स्थानांतरण तो युवक ने सीएम हेल्पलाइन में की शिकायत. बोला ईमानदार क्षवि वाले कलेक्टर कलेक्टर इलैया राजा टी के साथ काम कर के हुई खुसी. अगले तीन वर्षों के लिए दोबारा की जाए कलेक्टर इलैया राजा टी की नियुक्ति. चर्चा का विषय बना युवक। 

Powered by Blogger.