REWA : साधु बना शैतान : वेदांती महाराज का नाती है रसिया महंत, VIP घेरे में रहता था महंत : प्रशासन पर खड़े हुए सवाल?

( ग्राउंड एमपी 17 ऋतुराज द्विवेदी की रिपोर्ट ) रीवा में एक महंत पर 16 साल की नाबालिग ने रेप का आरोप लगा है। ये वारदात शहर के सबसे पॉश इलाके राजनिवास (सर्किट हाउस) में हुई। 28 मार्च की शाम आरोपी एनेक्सी भवन रूम नंबर-4 में ठहरा हुआ था। इस दौरान महंत की जान-पहचान का हिस्ट्रीशीटर बदमाश लड़की को वहां लेकर गया। किशोरी को यह कहा गया था कि महंत उसके बिगड़े काम बना देगा। किशोरी को वहां पहले शराब पिलाने की कोशिश की गई। फिर गुंडा और उसका साथी रूम का दरवाजा बंद कर निकल गए और महंत ने ये वारदात की। रूम हिस्ट्रीशीटर के नाम पर ही बुक था। आरोपी महंत श्रीराम जन्मभूमि न्यास के पूर्व सदस्य व पूर्व सांसद रामविलास वेदांती का शिष्य है।


रीवा राजनिवास में किशोरी के साथ महंत ने किया दुष्कर्म : एक आरोपी गिरफ्तार महंत फरार

ASP शिवकुमार वर्मा के अनुसार सोमवार शाम अकौरी (थाना नईगढ़ी) निवासी विनोद पांडेय के बुलाने पर किशोरी सतना से रीवा आई थी। किशोरी को झांसा देकर महंत से मिलने सर्किट हाउस लाया गया था। उसे पहले सैनिक स्कूल के पास बुलाया गया। फिर वहां से गाड़ी के जरिए सर्किट हाउस के अंदर लाया गया। नाबालिग को महंत सीताराम उर्फ समर्थ त्रिपाठी से विनोद पांडेय ने मिलवाया।

दो माह से भी ज्यादा समय से लापता युवक का THP से सटे जंगल में कंकाल मिलने से हड़कंप : 6 घंटे बाद कंकाल की शिनाख्त

आरोपी कर रहे थे शराब पार्टी

पीड़िता ने बताया कि वहां महंत, विनोद और एक अन्य आरोपी शराब पार्टी कर रहे थे। उसे भी शराब पिलाना चाही। उसके मना करने पर विनोद और दूसरा शख्स बाहर से रूम बंद कर चले गए। महंत ने गलत काम करने के बाद अपने चेलों से उसे घर छोड़ आने को कहा। हिस्ट्रीशीटर ने उसे धमकाया कि किसी को कुछ नहीं बताना। सर्किट हाउस के बाहर उसकी जान-पहचान वाले मिल गए। उन्होंने उसे आरोपियों से छुड़ाया। इसके बाद वह सतना चली गई। 29 मार्च की शाम पिता के साथ रीवा के सिविल थाने पहुंचकर केस कराया।


हाल ही में जेल से छूटा है हिस्ट्रीशीटर

ASP ने बताया कि मामले में 4 आरोपी बनाए गए हैं। पहला आरोपी महंत सीताराम उर्फ समर्थ त्रिपाठी और दूसरा विनोद पांडेय है। दो आरोपी फिलहाल अज्ञात हैं। पुलिस ने विनोद को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही एक संदेही को भी पुलिस ने हिरासत में लिया है। महंत फरार है। विनोद पांडेय हिस्ट्रीशीटर बदमाश है। वह हाल ही में जेल से बाहर आया है।

आरोपी विनोद पर तीन दर्जन मुकदमे

इस घटना का साजिशकर्ता विनोद पांडेय शातिर हार्डकोर अपराधी है। उस पर हत्या, हत्या के प्रयास, अड़ीबाजी, रेप सहित विभिन्न अपराधों के 36 से अधिक मामले दर्ज हैं। दोहरे हत्याकांड पर उसे कोर्ट से सजा भी हो चुकी थी और जमानत पर बाहर था। बताया गया है कि वह तीन दिन से VIP सर्किट हाउस में डेरा डाले हुआ था।

बता दें कि महंत सीताराम महाराज की कुछ हाल की ही पोस्ट फेसबुक में देखी जाए तो वह बीते 20 फरवरी और 19 मार्च को भी रीवा आया था। इस दोनो दौरों में वह एसपी नवनीत भसीन से मिला और बड़े ही मिलनसार अंदाज में एसपी का सम्मान भी करता नजर आ रहा है। जिससे साफ है कि उसके द्वारा अपना  भृमजल पुलिस पर भी फैलाया हुआ था। वही एसपी के अलावा भी कई पुलिस कर्मी महंत के साथ दिख रहे हैं इन फोटोज को देखकर यह कहना गलत नही होगा कि महंत को किसी वीआईपी से कम दर्जा रीवा में दिया जा रहा था और शायद यही वजह है कि महंत ने रीवा के सबसे ज्यादा सुरक्षित क्षेत्र में इस वारदात को अंजाम दिया।

आदतन अपराधी है किशोरी को बुलाने वाला

बता दें कि अभी तक सामने आए मामले में जिस विनोद पांडेय नाम के युवक का नाम सामने आ रहा है कि उसके द्वारा ही किशोरी को बुलाया गया था, वह जिले का आदतन अपराधी है जिसे हाल में ही जेल से छुटा है। बड़ा सवाल यह है कि आदतन अपराधी राजनिवास तक पहुंचा कैसे और उसके नाम रूम नंबर 4 बुक कैसे हुआ। 

पुलिस सुरक्षा महंत को दी जा रही थी लेकिन एक आदतन अपराधी महंत के साथ था ऐसे में भी पुलिस क्यों कुछ नही समझ सकी और किसी प्रकार की कार्यवाही नही की गई। 

हालांकि मामला सामने आने के बाद मामले की जांच पुलिस सभी तथ्यों पर कर रही है। पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन ने सख्त कार्यवाही के निर्देश भी दिए हैं।

महंत की पहुंच बड़ी लंबी

बता दें कि महंत सीताराम के फेसबुक पोस्ट से यह कहना गलत नही होगा कि महंत की पहुंच बड़ी लम्बी है, वह कई सत्ताधारी नेताओ का करीबी है। महंत ने विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम सहित नरोत्तम मिश्रा, राजेश पांडेय सहित अन्य भाजपा के नेताओ के साथ फोटो वायरल है। 

इतना ही नही महंत को रीवा आने पर चिरहुला हनुमार मंदिर जैसे मंदिर में अंदर प्रवेश कर दर्शन की अनुमति मिल रही है जो फोटोज में साफ देखा जा सकता है। जिससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि आखिर महंत ने कैसे इस वारदात को इस स्थान पर इतनी आसानी ने अंजाम दे दिया।

Powered by Blogger.