NSUI President आशुतोष चौकसे का कार्यकर्ताओं से 5 लाख से 9 लाख रुपए और इनोवा गाड़ी की मांग का ऑडियो और वाट्सएप चैट जमकर वायरल

MP NEWS : मध्यप्रदेश NSUI के नवनियुक्त अध्यक्ष आशुतोष चौकसे (Ashutosh Chouksey) का एक ऑडियो (Audio) और वाट्सएप चैट (whatsapp chat) सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। वायरल ऑडियो (viral audio) में अध्यक्ष आशुतोष चौकसे (President Ashutosh Chouksey) कार्यकर्ताओं को पद देने के लिए पैसे की मांग कर रहे हैं। ऑडियो और चैटिंग वायरल होने के बाद संगठन के कार्यकर्ताओं में हड़कंप मच गया है। चौकसे ने वायरल वीडियो को फर्जी बताते हुए क्राइम ब्रांच (crime branch) में शिकायत की है। 

एनएसयूआई (nsui) के प्रदेश अध्यक्ष रहे मंजुल त्रिपाठी (Manjul Tripathi) को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। वह कांग्रेस की मंशा पर खरे नहीं उतरे और उनसे इस बड़े पद की जिमेदारी छीन ली गई। मात्र 8 माह के छोटे से कार्यकाल के बाद ऐसा निर्णय संगठन को लेना पड़ा। मंजुल को जिम्मेदारी देते ही पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने संगठन को मजबूत करने की बात कही थी, उन्होंने कहा था कि कॉलेज स्तर पर इकाइयों का गठन कर क्षेत्रीय नेताओं व कार्यकर्ताओं से समन्वय स्थापित कर संगठन को मजबूत कर, हाल ही में छात्रों की छात्रवृत्ति को लेके भी आंदोलन के निर्देश दिए गए थे लेकिन मंजुल त्रिपाठी यह भी नहीं कर सके।

इसलिए छीना गया पद इतना ही नहीं वह छात्रों की आवाज बुलंद करने की जगह नेताओं की रैली में ज्यादा दिखे। आंदोलन भोपाल, सतना व ग्वालियर तक ही सीमित रह गया। छात्रों के कई मुद्दों पर NSUI ठीक से आवाज़ नहीं उठा सकी। 

यहां तक कि रीवा में कन्या महाविद्यालय का मामला भी ठंडे बस्ते में चला गया, जबकि इसको लेके कांग्रेस लगातार मांग कर रही थी। बता दें कि 2 अक्टूबर 2021 को विपिन वानखेड़े (Vipin Wankhede) के बाद मंजुल त्रिपाठी (Manjul Tripathi) को कमान सौंपी गई थी। जिसके बाद से रीवा NSUI जिला अध्यक्ष की कुर्सी खाली थी इसे भी नहीं भरा जा सका और इसी प्रकार अन्य जगहों पर भी यही हाल संगठन के पदों का रहा। अब जिम्मेदारी आशुतोष चौकसे को दी गई है।

इस आडियो को एकबारगी सुनने पर पता चलता है कि NSUI का जिला अध्यक्ष बनने के​ लिए मोटी रकम 5 से 10 लाख देने की बात कही जा रही है। एक आदमी इसे स्वीकार भी कर रहा है। सामने वाले शख्स ने कालेजों से होने वाली वसूली तक का हिस्सा मांग डाला। यहाँ तक एक इनोवा (Innova) गाड़ी की माँग भी की है। सोशल मीडिया में आरोप लगा है कि यह आवाज चौकसे और एक NSUI कार्यकर्ता की है जबकि आडियो को कोई भी कानूनी मान्यता नही है।


इसी तरह जो फेसबुक चैटिंग वायरल हुई है, उसमें भी जिला अध्यक्ष बनने के लिए मोटी रकम लेने—देने की बात कही गई है। वैसे वायरल चेटिंग में कहीं भी चौकसे का नाम नही है और ना ही पीड़ित पक्ष का। ऐसे में इसके फर्जी होने का दावा भी किया जा रहा है।

Taj Mahal के निर्माण की असली सच्चाई : देश-दुनिया तक एक बार फिर गरमाया ताजमहल का मामला : पढ़िए पूरी कहानी

वायरल वाट्सएप चैटिंग में एक दावेदार को अध्यक्ष बनने के लिए 5 लाख रुपए तक देने की बात कह रहा है। वहीं उसके उत्तर में उसे लिखा गया है कि तुम्हारा एक साथी 9 (लाख रुपए) देने को रेडी है। बता दें कि भोपाल के आशुतोष चौकसे को 7 मई को एनएसयूआई का प्रदेशाध्यक्ष नियुक्त किया गया है।

Powered by Blogger.