REWA : रेलवे स्टेशन से मोस्टवांटेड अपराधी को जबलपुर STF की मदद से पुलिस ने पकड़ा, 15 हज़ार का इनाम घोषित था

रीवा शहर की सिविल लाइन पुलिस ने जबलपुर एसटीएफ की मदद से 15000 रुपए के इनामी बदमाश को गिरफ्तार किया है। आरोपी के​ खिलाफ रीवा जिले के सिरमौर, सोहागी, बैकुण्ठपुर और गढ़ थाने को मिलाकर चार अपराध दर्ज है। वहीं आरोपी के खिलाफ शहडोल जिले के गोहपारू थाने में NDPS ACT का प्रकरण दर्ज है। इस मोस्टवांटेड अपराधी को जबलपुर STF वर्षों से तलाश रही थी। बदमाश रीवा से गुजरात जाने वाला था। इसी बीच एक मुखबिर ने अपराधी की लोकेशन पुलिस को भेज दी। इसके बाद पुलिस ने रेलवे स्टेशन पर दबिश दी और घेराबंदी कर उसे गिरफ्तार कर लिया। अब अग्रिम कार्यवाही के लिए सिरमौर पुलिस के सुपुर्द कर दिया है।

इश्क की आग में जला प्रेमी : 2 दिन पहले छोड़कर चली गई थी गर्लफ्रेंड, उसी के घर के सामने खुद को जिंदा जलाया

रेलवे स्टेशन पर देख मुखबिर ने दी सूचना

सिविल लाइन थाना प्रभारी निरीक्षक हितेन्द्रनाथ शर्मा ने बताया कि 30 अप्रैल को एक मुखबिर से सूचना आई थी। उसने दावा किया कि आरोपी शिवम सिंह उर्फ डिंगी पुत्र मोरध्वज सिंह (21) निवासी बैकुण्ठपुर रीवा छोड़कर गुजरात भाग रहा है। अभी कुछ मिनट पहले रीवा रेलवे स्टेशन में दिखा है। जो कुछ देर में ट्रेन के अंदर सवार होकर गुजरात निकल जाएगा। सूचना तस्दीक की तो सही पाई गई। ऐसे तत्काल TI हितेन्द्रनाथ शर्मा, SI राहुल सोनकर और STF ईकाई जबलपुर के आरक्षक प्रभात सिंह बघेल व आरक्षक आनन्द पाण्डेय को साथ लेकर रेलवे स्टेशन के अंदर दबिश दी। जहां आरोपी की तलाश कर घेराबंदी की। इसके बाद पकड़कर हिरासत में लेते हुए अग्रिम कार्यवाही के लिए सिरमौर पुलिस के सुपुर्द कर दिया है।

रोज करीब 200 मिलीलीटर अपना यूरिन पीता है ये शख्स : बोला मैंने 10 साल कम की अपनी उम्र, डॉक्टर हैरान

ये है अपराधों की लिस्ट

आरोपी शिवम सिंह उर्फ डिंगी के खिलाफ सिरमौर थाने में अपराध क्रमांक 201/21 आईपीसी की धारा 341,294,323,327,506, 34 में 2000 रुपए का ईनाम रखा गया है। वहीं शहडोल जिले के गोहपारू थाना के अपराध क्रमांक 218/21 आईपीसी की धारा 8,21,22 NDPS ACT एवं 5/13 इंग्स कन्ट्रोल एक्ट में 10000 रुपए का इनामी था। इसी तरह सोहागी थाने के अपराध क्रमांक 11/22 आईपीसी की धारा 8,21,22 NDPS ACT एवं 5/13 इंग्स कन्ट्रोल एक्ट में 3000 रुपए का ईनाम और बैकुण्ठपुर थाना के अपराध क्रमांक 137/22 आईपीसी की धारा 294,323,506, 34 व गढ़ थाने में दर्ज अपराध में फरार आरोपी की गिरफ्तारी के लिए ईनाम घोषित किया था।

Powered by Blogger.