फिर शर्मसार हुआ रीवा : 7 साल तक नाबालिग से बालिग होने तक दुष्कर्म, साथियों ने भी फोटो और वीडियो वायरल की आड़ में किया रेप

रीवा शहर के सिविल लाइन थाना अंतर्गत एक महिला ने दुष्कर्म की शिकायत दर्ज कराई है। सूत्रों की मानें तो जान पहचान का आरोपी लगातार 7 साल से दैहिक शोषण करता आ रहा है। दावा है कि जब पीड़िता नाबालिग थी, तब भी आरोपी ने कई बार संबंध बनाए है। बालिग होते ही पीड़िता का वोटर आईडी कार्ड बनवाकर होटलों में ले जाकर कई जगहों में रेप किया है। शादी तय हो जाने पर फरवरी 2022 में आरोपी से दूरी बना ली।

दो लापता बहनों का कुएं में शव मिलने से हड़कंप : जांच में जुटी पुलिस

ऐसे में वह झांसा देकर बुलवाया और दो दोस्तों को परोस दिया। साथियों ने डरा धमकाकर वीडियो बनाया और रेप किया। अप्रैल 2022 में शादी हो गई, तो आरोपी घर में मां और भाई को परेशान करने लगे। ऐसे में थक हारकर सिविल लाइन थाने पहुंची। जहां महिला पुलिस अधिका​रियों ने बयान लेने के बाद तीन आरोपियों के​ खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है। जहां एक आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। जबकि दो साथी फरार है।

लापता लड़की की दूसरे दिन मिली लाश : प्लीज मुझें जवाब दीजिए आप शादी करेंगे या नहीं मुझे, गला घोंटकर हत्या की आशंका

तीन लोगों के खिलाफ अपराध दर्ज

सिविल लाइन थाना प्रभारी निरीक्षक हितेन्द्रनाथ शर्मा को पीड़ित महिला ने बताया कि यूपी के भदोही निवासी उमेश सिंह 2015 से धमकी देकर दुष्कर्म करता आ रहा है। डर के मारे जुल्म सहती रही। लेकिन फरवरी 2022 में दो दोस्त अमर मिश्रा और प्रद्युम्न शुक्ला को घर लेकर आया। इन दोनों ने भी जबरदस्ती कर रेप किया।​ फिलहाल पीड़िता की शिकायत पर आईपीसी की धारा 450, 376 डी एवं 506 का अपराध कायक कर लिया है।

अवैध कट्टे के साथ युवक को वीडियो बनाकर सोशल मीडिया में वायरल करना पड़ा भारी, सायबर की मदद से आरोपी गिरफ्तार

वीडियो और फोटो वायरल करने की दे रहे थे धमकी

पीड़िता ने दावा किया कि आरोपी उमेश सिंह वीडियो और फोटो वायरल करने की धमकी देकर दुष्कर्म करता था। डर के मारे उसकी बात मान लेती थी। ऐसे में जब आरोपी मिलने आता तो हमारे सामने फोटो और वीडियो डिलीट कर देता था। फिर संबंध बनाकर घर चला जाता था। लेकिन कुछ दिनों बाद उसके पास फिर वैकअप आ जाता था। जिसके कारण आरोपी की जाल से नहीं निकल पाई।

रीवा शहर में दहशत का पर्याय बने दो बदमाश अवैध पिस्टल और देसी कट्टे के साथ गिरफ्तार, सत्यम मोराई पर दर्ज है 8 मामले

मुख्य आरोपी पहुंचा जेल, साथी फरार

थाना प्रभारी की मानें तो मुख्य आरोपी उमेश सिंह को गिरफ्तार करते हुए जिला न्यायालय में पेश कर केन्द्रीय जेल रीवा भेज दिया गया है। जबकि दो साथी अमर मिश्रा और प्रद्युम्न शुक्ला फरार है। जिनकी गिरफ्तारी के प्रयास में पुलिस की कई टीमें लगी है। चर्चा है कि दोनों आरोपी पुलिस की रडार में आ गए है। ऐसे में जल्द पकड़ लिया जाएगा।

Powered by Blogger.