REWA : रीवा शहर में दहशत का पर्याय बने दो बदमाश अवैध पिस्टल और देसी कट्टे के साथ गिरफ्तार, सत्यम मोराई पर दर्ज है 8 मामले

रीवा। थाना विश्वविद्यालय अंतर्गत आदतन आरोपी एवं क्षेत्र में अशांति व्यवस्था फैलाने वाले अपराधी सत्यम तिवारी उर्फ़ सत्यम मोराई निवासी जनता कॉलेज के पास विवि.और उसका साथी रोशन गुप्ता निवासी अमहिया को थाना विश्वविद्यालय पुलिस ने अवैध हथियारों के साथ गिरफ्तार किया है. थाना प्रभारी जे. पी.पटेल ने बताया कि सत्यम मोराई पिछले कुछ दिनों से क्षेत्र में आम जनता में दहशत का माहौल पैदा कर रहा था एवं क्षेत्र के लोगों को हथियारों के दम पर डराता-धमका था और अपने साथियों का एक बाइकर्स ग्रुप तैयार करना चाह रहा था. जिसकी सूचना काफी दिनों से पुलिस को मिल रही थी. कल विश्वविद्यालय पुलिस टीम ने मुख़विर सूचना के आधार पर सत्यम मोराई और उसके साथी रोशन गुप्ता को एक देसी कट्टा तथा एक पिस्टल और जिन्दा  कारतूस सहित अनंतपुर में एक किराए के मकान से गिरफ्तार किया है. आरोपी सत्यम मोराई के विरुद्ध थाना विश्वविद्यालय, थाना सिविल लाइन थाना कोतवाली, थाना गढ़ मे 8 से ज्यादा आपराधिक दर्द है प्रकरण दर्ज है. जिसमें हत्या के प्रयास एवं हत्या का प्रकरण भी शामिल है. वह थाना कोतवाली, थाना गढ़ के हत्या के प्रयास के अलग-अलग मामलो मे फरार चल रहा था. विवि.पुलिस को सत्यम मोराई की काफ़ी दिनों से तलाश थी.

सोहागी पुलिस ने UP के प्रयागराज से आ रही 10 कार्टून नशीली कप सीरफ के बंडल पकडे

चार थानों में प्रकरण दर्ज

पुलिस का दावा है कि आरोपी सत्यम मोराई के विरुद्ध विश्वविद्यालय थाना, सिविल लाइन थाना, सिटी कोतवाली थाना, गढ़ थाना में 8 से ज्यादा आपराधिक प्रकरण दर्ज है। जिसमे हत्या व हत्या के प्रयास का प्रकरण शामिल है। वह सिटी कोतवाली और गढ़ थाने के हत्या के प्रयास के अलग-अलग मामलों में फरार चल रहा था। विश्वविद्यालय पुलिस को सत्यम मोरारी की काफी दिनों से तलाश थी।

वर्जन 

थाना प्रभारी ने बताया कि  क्षेत्र में शांति व्यवस्था हर- हर हाल में कायम किया जाएगा और ऐसे अपराधियों के विरुद्ध हमेशा कठोर कार्रवाई जारी रहेगी. ताकि क्षेत्र की आम जनता  शांतिपूर्ण और खुशहाल रहे सके. आरोपियों को न्यायालय भेजा गया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है.- थाना प्रभारी जेपी पटेल 

कार्यवाही में ये रहे शामिल 

आरोपियों को गिरफ्तार करने में थाना विश्वविद्यालय के उप निरीक्षक संग्राम सिंह,प्रधान आरक्षक विष्णु दत्त पांडे, झलक नारायण पांडे, आरक्षक वेद प्रकाश पटेल, देवकी नंदन मिश्रा, अनुराग, राहुल  घूपर की महत्वपूर्ण भूमिका रही.  पुलिस अधीक्षक श्री नवनीत भसीन ने पुलिस टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है.

Powered by Blogger.