SATNA : सतना जेल में सलाखों के पीछे से सरपंच बनने युवक ने ठोकी चुनावी ताल, आरोपी पर दर्ज है NDPS का मामला

सतना की सेंट्रल जेल में पिछले एक साल से बंद एक बंदी ने जेल की सलाखों के पीछे से चुनावी ताल ठोकी है। वह जेल में रहते हुए सरपंच बनना चाहता है, लिहाजा पंचायत चुनाव के लिए उसने नामांकन पत्र भरा है। सतना में इस किस्म का यह पहला मामला है, जब कोई विचाराधीन बंदी जेल में रहकर चुनाव मैदान में कूदा हो।

अंतरप्रांतीय चोर गैंग पकड़ाई : खरीदारी के बहाने पार कर दिए 18 लाख के गहने, महिलाओं समेत तीन लोग गिरफ्तार

केंद्रीय कारागार सतना में पिछले वर्ष की 3 जून से बंद विचाराधीन बंदी शैलेश शुक्ला 30 वर्ष भी इस बार पंचायत चुनाव लड़ेगा। उसने भरजुना के सरपंच पद के लिए नामांकन पत्र भरा है। उसके अधिवक्ता देवेंद्र शर्मा ने गुरुवार को जेल पहुंच कर उसका पर्चा भरवाया और शपथ पत्र तस्दीक कराया जिसे 3 जून को दाखिल कर दिया गया।

पत्नी का गला घोंटकर हत्या करने वाले हत्यारे पति को अदालत ने सुनाई आजीवन कारावास की सजा

चुनाव लड़ने की इच्छा जताई

शैलेश शुक्ला को 3 जून 2021 को सिटी कोतवाली पुलिस ने 2 अन्य साथियों समेत नशीली कफ सिरप के अवैध कारोबार के सिलसिले में गिरफ्तार किया था। वह तब से जेल में ही है। उसने जेल में रहते हुए पंचायत चुनाव लड़ने की इच्छा जताई थी, लिहाजा इसके अधिवक्ता ने विशेष न्यायाधीश योगीराज पांडे की अदालत में इस संबंध में प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया था।

टमस नदी में 3 की मौत : युवकों की मौत से गांव में पसरा मातम, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल : 4-4 लाख रुपए की सहायता राशि स्वीकृत

सरपंच पद के लिए नामांकन पत्र दाखिल

अदालत ने उसे जेल में रह कर चुनाव लड़ने की अनुमति दे दी है, जिसके बाद उसने अधिवक्ता के माध्यम से अपना नाम निर्देशन पत्र भरा और शपथ पत्र तस्दीक कराया। यह भी इत्तेफाक ही है कि 3 जून को ही वह जेल गया था और अब 3 जून को ही सरपंच पद के लिए उसका नामांकन पत्र दाखिल हुआ है।

शहर में विभिन्न अपराधों में संलिप्त जिले के 8 अपराधियों को किया जिला बदर : देखें नाम

बता दें कि उसके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की धारा 8/21 और ड्रग कंट्रोल एक्ट की धारा 5/21 के तहत चल रहे प्रकरण पर सुनवाई 11 जून को होनी है।

Powered by Blogger.