MP BREAKING : petrol-diesel की सप्लाई 40% तक घटी, प्रदेश के 1 हजार पंप खाली


MP NEWS : मध्यप्रदेश में डीजल-पेट्रोल सप्लाई की अघोषित कटौती से संकट गहरा सकता है। प्रदेश के 1 हजार पंप सूखने जैसी स्थिति में हैं। आगरा-मुंबई रोड और दूसरे हाईवे पर मौजूद आधे से ज्यादा (60%) पंपों पर डीजल खत्म हो गया है। जिन पंपों पर ईंधन है भी, तो वहां तीन-चार दिन का ही स्टॉक बचा है।

शादी का झांसा देकर छात्रा से 5 साल तक दुष्कर्म : 16 की उम्र में हुआ था प्यार, 5 साल बाद शादी के लिए बोला तो करने लगा मारपीट

पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन मप्र के अध्यक्ष अजय सिंह ने बताया, इंडियन ऑयल की तो सप्लाई ठीक है, लेकिन हिंदुस्तान और भारत पेट्रोलियम ने सप्लाई कम कर दी। भौंरी स्थित डिपो की टाइमिंग भी 2 घंटा घटा दी है। ऐसे में डीलर्स को पर्याप्त ईंधन नहीं मिल रहा है।

भोपाल में 27 साल की युवती ने अपना गुस्सा मिटाने शरीर पर गुदवाये सांप, बिच्छू जैसे 70 टैटू

प्रदेश में तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल की सप्लाई करीब 40% तक घटा दी। इससे पंप ड्राई हो रहे हैं। राजधानी भोपाल में ही दिन में 10 पेट्रोल पंप पर पेट्रोल-डीजल खत्म हो जाता है। पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के अनुसार, प्रदेश में हर रोज 2.77 करोड़ लीटर पेट्रोल-डीजल की खपत होती है, लेकिन कंपनियां करीब 1 करोड़ लीटर ईंधन कम दे रही हैं। प्रदेश में भोपाल के भौंरी समेत इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर में कंपनियों के तेल डिपो हैं, जहां से प्रदेशभर में पेट्रोल-डीजल की सप्लाई होती है।

सप्लाई नहीं हुई तो गंभीर स्थिति होगी

एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय सिंह ने बताया, केंद्र सरकार के पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी घटाने के बाद तेल कंपनियों ने सप्लाई कम कर दी है। यदि सप्लाई ठीक नहीं हुई तो आने वाले कुछ दिन के बाद स्थिति गंभीर हो सकती है। सबसे ज्यादा डीजल को लेकर दिक्कत है। हालांकि, अभी कुछ दिन का स्टॉक बचा है। यह खत्म होने के बाद परेशानी बढ़ सकती है। हालांकि, सप्लाई घटाने को लेकर कंपनियों का अधिकारिक बयान नहीं आया है, लेकिन डीलर्स को कंपनियां घाटा होने की बात कह रही है।

कमलनाथ ने सरकार को घेरा

प्रदेश में पेट्रोल-डीजल की सप्लाई घटने से पूर्व सीएम और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने शिवराज सरकार को घेरा है। उन्होंने ट्वीट किया कि 'प्रदेश की आम जनता को रोज नए संकटों में डालना भाजपा सरकार की आदत बन चुकी है। अब पेट्रोल पंपों पर तेल की आपूर्ति का संकट खड़ा कर दिया गया है। राजधानी भोपाल सहित पूरे प्रदेश में पंप ड्राई होने लगे हैं। जनता पेट्रोल-डीजल की किल्लत से जूझ रही है। आगे हालात और भी भयावह होने का भय है'।

सरकार से दखल की मांग

Powered by Blogger.