GF ने बना दिया लुटेरा : 8 लोगों की गैंग युवतियों और महिलाओं को बनाती थी लूट का निशाना, फिर सामान बेच करते थे GF के साथ अय्याशी

 

GF ने बना दिया लुटेरा : 8 लोगों की गैंग युवतियों और महिलाओं को बनाती थी लूट का निशाना, फिर सामान बेच करते थे GF के साथ अय्याशी

इंदौर में गर्लफ्रेंड को घुमाने और अय्याशी करने के लिए मोबाइल लूटने वाले गिरोह को विजय नगर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस गैंग में शामिल 8 युवक पैदल जा रहे लोगों खासतौर पर युवितयों और महिलाओं को निशाना बनाते थे। लूट के बाद मोबाइल बेचकर मिले रुपयों से गर्ल फ्रेंड के साथ अय्याशी करने निकाल जाते थे। आरोपी जिस इलाके में लूट की वारदात करते थे उस इलाके में 1 सप्ताह तक दोबारा नहीं जाते थे। गैंग ने लूट के रुपयों से एक कार भी खरीद रखी थी।

MP में मंकी पॉक्स का ALERT : दुनिया के 11 देशों के बाद अब भोपाल सहित प्रदेश के एयरपोर्ट्स पर यात्रियों की निगरानी पर मॉनिटरिंग शुरू

लूट के रुपयों से गर्लफ्रेंड को दिलाते थे महंगे कपड़े

थाना प्रभारी रविन्द्र गुर्जर ने बताया कि आरोपियों द्वारा शहर के भंवरकुआं, एमआईजी, अन्नपूर्णा, विजयनगर और लसूडिया में लगातार सिलसिले वार लूट की घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा था। आरोपी लूटपाट करने के लिए बिना नम्बर की बाइक का इस्तेमाल कर रहे थे। इस कारण इलाके में लगे सीसीटीवी की नजर में नहीं आ रहे थे। पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि कुछ अज्ञात बदमाश विजय नगर इलाके में हथियारों के साथ बैठे हैं। जिनसे पूछताछ करने पर सभी आरोपियों ने ऑर्बिट मॉल स्थित ओप्पो कंपनी के मोबाइल शोरूम पर डकैती डालने की योजना को कबूला। इसके साथ ही इलाके में हो रही लूट की अन्य वारदात भी कबूल की। आरोपियों ने बताया कि लूट के रुपयों से अपनी गर्ल फ्रेंड को महंगे कपड़े दिलवाते थे ।

बहुचर्चित राज निवास मामले में सह आरोपी संजय त्रिपाठी गंभीर हालत में भोपाल के लिए रेफर, जेल प्रबंधन पर लगाएं यह आरोप

ओप्पो शोरूम पर डाका डालने की फिराक में थे

पकड़े गए आरोपियों के नाम विक्की उर्फ सागर प्रजापत, मनीष सोलंकी, सौरभ इंदकर, मनीष नानोरिया, सौरभ ओराडे, हर्षवर्धन कुशवाह, यशवर्धन वर्मा और आदित्य नानेरे हैं। इनके पास से लोहे की रॉड, दो छुरे, दो बाइक, 6 मोबाइल फोन व सरिए मिले हैं। ये सभी आर्बिट मॉल के ओप्पो शोरूम में डकैती डालने की फिराक में थे। सभी आरोपी नशे के आदी हैं। ये सुनसान कॉलोनी में अकेली महिलाओं व बुजुर्गों से मोबाइल व पर्स स्नैचिंग भी कर चुके हैं। इन्होंने वाहन चोरी की भी दो वारदात भी कबूली हैं। सभी के आपराधिक रिकॉर्ड हैं।

Related Topics

Share this story

From Around the Web

Most Read