MP में हुआ कोरोना विस्फोट ,बीते 24 घंटों में मिले 575 केस : 10 की मौत : कई जिलों में लग सकता है सम्पूर्ण LOCKDOWN


भोपाल. मध्यप्रदेश में कोरोना का विस्फोट हुआ है। बीते 24 घंटों में मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के 575 मामले सामने आए हैं। ग्वालियर जिले में कोरोना संक्रमण के 110 मामले सामने आए हैं। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहा हैं। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि जिन मोहल्ला या कॉलोनियों में कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले हैं वहां फिर से लॉकडाउन  लगाया जा सकता है। हालांकि उन्होंने जनरल लॉकडाउन लगाने से इंकार किया है।


ग्वालियर प्रदेश का तीसरा सबसे संक्रमित जिला
कभी कोरोना मुक्त हो चुके ग्वालियर में एक बार फिर से कोरोना विस्फोट हुआ है। ग्वालियर मध्यप्रदेश का तीसरा सबसे संक्रमित जिला हो गया है। यहां कोरोना संक्रमण के मामले 1 हजार से ऊपर हो गए हैं। ग्वालियर में अब तक कुल 1016 केस हो गए हैं। ग्वालियर में 538 लोग स्वस्थ्य हो गए हैं जबकि 473 एक्टिव केस हैं। संक्रमण के कारण ग्वालियर में अभी तक 5 लोगों की मौत हुई है।


24 घंटों में 10 मौतें
मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के कारण बीते 24 घंटों में 10 लोगों की मौत हुई है। सबसे ज्यादा मौते इंदौर में हुई हैं। इंदौर में 4, भोपाल में 1, ग्वालियर में 2, शाजापुर, झाबुआ और जबलपुर में एक-एक की मौत हुई हैं। मध्यप्रदेश में वायरस के कारण अब तक 663 लोगों की मौत हो चुकी है।


यहां बढ़े मामले
24 घंटों में इंदौर में 92, भोपाल में 88, ग्वालियर में 110, मुरैना में 31 और जबलपुर में 30 मामले सामने आए हैं। मध्यप्रदेश में अभी तक कोरोना वायरस के कारण 18207 लोग संक्रमित हो गए हैं। मध्यप्रदेश में सबसे ज्यादा संक्रमित इंदौर में हैं उसके बाद राजधानी भोपाल में भी संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। 


बढ़ेगी सख्ती
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए उत्सवों पर सार्वजनिक झाकियां नहीं लगाई जाएंगी। धार्मिक स्थलों, उपासना स्थलों पर एक बार में 5 से अधिक व्यक्ति इकट्ठे नहीं होंगे। शादी, सगाई आदि में दोनों पक्षों के 10-10 व्यक्ति से अधिक सम्मिलित नहीं होंगे। जन्मदिन आदि उत्सवों में 10 से अधिक व्यक्ति शामिल नहीं होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोरोना संक्रमण रोकने के लिए घर पर ही आगामी त्यौहार मनाएं। देव प्रतिमा घर पर ही स्थापित कर पूजा-अर्चना करें। सार्वजनिक स्थलों पर प्रतिमा स्थापित करने, त्योहार मनाने की अनुमति नहीं होगी।


Powered by Blogger.