REWA : डकैत बबली कोल की पूर्व प्रेमिका की हत्या का हुआ खुलासा : जानिए कैसे हुई प्रेमिका की हत्या


रीवा। डकैत बबली कोल की पूर्व कथित प्रेमिका की हत्या उसके भांजे के पुत्र ने ही अंजाम दिया था। घटना के बाद से चार लोगों के द्वारा हत्या करने की कहानी ने पुलिस को भी उलझा दिया था लेकिन जब पुलिस ने बच्ची से प्यार से पूछताछ की तो वास्तविकता सामने आ गई।


घर में मिला था महिला का खून से लथपथ हालत में शव
गुडिय़ा सिंह पति अनिल सिंह बरगाही 30 वर्ष निवासी सेमरिया की दो दिन पूर्व उसके घर में पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी जिसका शव गुुरुवार की सुबह घर में बरामद हुआ था। पुलिस हत्या का मामला दर्ज कर घटना की जांच कर रही थी। पुलिस ने शुक्रवार को बच्ची से लाड़ प्यार से पूछताछ की तो उसने सच्चाई बता दी। आरोपी सौरभ सिंह उर्फ अंचल पिता अशोक सिंह 22 वर्ष निवासी डाढ़ थाना सेमरिया के द्वारा अकेले हत्या करने की जानकारी दी। जिस समय आरोपी महिला को डंडे से पीट रहा था उस समय बच्ची की नींद खुल गई थी लेकिन आरोपी ने उसको चार लोगों के द्वारा मारपीट करने की बात सबको बताने को कहा था जिस पर उसने पुलिस को भी यही जानकारी दी थी जिसमें चार लोगों के द्वारा घर में घुसकर हत्या करने की बात सामने आ रही थी।




आरोपी के कहने पर पुलिस को दी झूठी जानकारी 
इस बात की तस्दीक में दो दिनों तक पुलिस उलझी रही। शनिवार को पुलिस ने आरोपी सौरभ सिंह को न्यायालय में पेश कर दिया जहां उसको जेल भेज दिया गया है। इस घटना के बाद महिला के मायके पक्ष के लोग सेमरिया नहीं आए। महिला मूलत: जमुनापार जिला चित्रकूट उ.प्र. की रहने वाली है। वह कई सालों से अपने मायके वालों के संपर्क में नहीं थी। महिला ने पाई-पाई जोड़कर अपने लिये आशियाना बनवाया लेकिन उसमें एक रात भी वह नहीं गुजार पाई।

बाल कल्याण समिति के सामने पेश हुई बच्ची, वन स्टाप सेंटर भेजा
इस घटना के बाद पांच साल की मासूम के सिर से आसरा छिन गया। उसका पिता पहले ही पुलिस मुठभेड़ में मर चुका है और मां की दो दिन पूर्व हत्या हो गई। अब उक्त बच्ची की देखभाल करने वाला कोई नहीं था। सेमरिया पुलिस ने बच्ची को बाल कल्याण समिति के सामने पेश किया जहां से उसको वन स्टाप सेंटर भेज दिया गया है।

घटना की जांच जारी 
महिला की हत्या उसके भांजे के पुत्र ने की थी। बच्ची आरोपी के दबाव में आकर गलत जानकारी दे रही थी। आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर दिया गया है। बच्ची की देखभाल करने वाला कोई नहीं था जिस पर उसे बाल कल्याण समिति के सामने पेश किया गया है। उसे फिलहाल वन स्टाप सेंटर में रखवाया गया है।
दीपक त्रिपाठी, थाना प्रभारी सेमरिया


Powered by Blogger.