SATNA : प्रधानमंत्री अावास घोटाले का मुख्य आरोपी अरुण ओझा को रतलाम पुलिस ने सतना से किया गिरफ्तार


रतलाम। पुलिस ने प्रधानमंत्री अावास घोटाला व नामली के कोचा तालाब में अनिमियतता मामले के अारोपित नगर परिषद नामली (रतलाम) के पूर्व अौर सतना की कोटर नगर परिषद के वर्तमान अध्यक्ष अरुण अोझा को गिरफ्तार कर लिया। अोझा को सोमवार सुबह उनके जवाहर नगर स्थित मकान से गिरफ्तार किया गया। अोझा को मंगलवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा। दोनों मामलों में नामली नगर परिषद के पूर्व अध्यक्ष व भाजपा नेता नरेंद्र सोनावा भी अारोपित है, लेकिन उनकी अभी तक गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। पुलिस के अनुसार सोनावा की तलाश की जा रही है।


उल्लेखयनी है कि 1 जुलाई 2019 को नगर परिषद नामली के तत्कालीन पार्षद प्रकाश कुमावत ने 1 जुलाई परिषद के तत्कालीन अध्यक्ष नरेंद्र सोनावा व तत्कालीन सीएमअो अरुण अोझा के खिलाफ प्रधानमंत्री अावास योजना में अनियिमतता अौर भ्रष्टाचार करने की शिकायत की थी। जिला प्रशासन ने एसडीएम ग्रामीण से शिकायत की जांच कराई थी। जांच में अध्यक्ष व सीएमअो दोनों को संयुक्त रूप से अार्थिक अनियमितता का दोषी पाया था। जांच के बाद दोनों के खिलाफ 5 नवंबर 2019 को नामली थाने में एफअाईअार कराई गई थी। पुलिस भादंवि की धारा 409, 420, 467, 468, 471 के तहत प्रकरण दर्ज किया था।

इसके बाद दोनों फरार हो गए थे। पुलिस ने कई जगह तलाश की थी लेकिन वे नहीं मिले थे। इसी बीच जनवरी 2020 में सोनावा व अोझा के खिलाफ ठेकेदार के साथ मिलकर कोचा तालाब निर्माण में एक करोड़ 10 हजार 757 रुपये की शासन को अार्थिक क्षति पहुंचाकर वित्तीय अनियमितता करने के मामले में भी प्रशासन ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी।


इस मामले में पुलिस ने 4 जनवरी 2020 को सोनावा, अोझा व ठेकेदार अख्तर के खिलाफ भादंवि की धारा 409, 420, 34 के तहत प्रकरण दर्ज था। सोनावा व अोझा ने पहले जिला अौर बाद में उच्च न्यायालय खंडपीठ इंदौर में अग्रिम जमानत के लिए अावेदन दिए थे, लेकिन न्यायालयों से दोनों को अग्रिम जमानत नहीं मिल पाई थी। रतलाम ग्रामीण एसडीओपी मानसिंह चौहान ने बताया कि अोझा को दबिश देकर उसके जवाहर नगर स्थित निवास से गिरफ्तार किया गया। सोनावा की गिरफ्तारी नहीं हुई है।


गिरफ्तारी के दिन ही कोटर से रतलाम तबादला


प्रदेश के नगरीय विकास एवं अावास मंत्रालय भोपाल ने विभाग के अनेक अधिकारियों व कर्मचारियों के तबादले किए है। इनमें कोटर नगर परिषद के सीएमअो अरुण अोझा भी शामिल है। अोझा को कोटर से सीएमअो से जिला शहरी विकास अभिकरण रतलाम के सहायक परियोजना अधिकारी पद पर स्थनांतरित किया गया है। उनका रतलाम अाने के तबादला जिस दिन जारी हुअा, उसी दिन उनकी गिरफ्तारी भी हो गई। यह बात चर्चा की विषय बनी हुई है अौर सोशल मीडिया पर भी इसे लेकर टिप्पणी वायरल हो रही है।


Powered by Blogger.