MP के कॉलेजों में UG कोर्स में रजिस्ट्रेशन का आज आखिरी दिन

इंदौर। बीए, बीकॉम और बीएससी समेत अन्य स्नातक पाठ्यक्रम में गुरुवार को पंजीयन का आखिर दिन है। रात 12 बजे उच्च शिक्षा विभाग लिंक बंद कर देगा। बारहवीं की अंकसूची के आधार पर विद्यार्थियों की मेरिट बनेगी। सूची को 28 अगस्त को पोर्टल पर सार्वजनिक किया जाएगा। फिर विद्यार्थियों को 2 सितंबर तक अपने दस्तावेज और फीस जमा करना है।
5 अगस्त से शुरू हुई ऑफलाइन-ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया में अब तक प्रदेशभर में दो लाख से ज्यादा विद्यार्थियों ने पंजीयन करवाया है। अकेले इंदौर में आवेदन का आंकड़ा 67 हजार के आसपास पहुंच चुका है। अब अच्छे कॉलेज और पसंदीदा पाठ्यक्रम में दाखिले के लिए विद्यार्थियों के पास महज गुरुवार रात 12 बजे तक का समय है। मेरिट सूची के आधार पर विद्यार्थियों को कॉलेज में 2 सितंबर शाम 5 बजे तक फीस और दस्तावेज जमा करना है। फिर कॉलेजों को प्रवेश पा चुके विद्यार्थियों की ऑनलाइन सूची विभाग को भेजनी होगी। साथ ही होलकर साइंस कॉलेज, गवर्नमेंट आर्ट्स एंड कॉमर्स कॉलेज, ओल्ड जीडीसी, न्यू जीडीसी, निर्भय सिंह पटेल न्यू साइंस कॉलेज, गवर्नमेंट लॉ कॉलेज अपनी-अपनी कटऑफ लिस्ट जारी करेंगे।
वहीं ऑफलाइन प्रवेश दे रहे अल्पसंख्यक कॉलेजों को भी 2 सितंबर शाम 5 बजे तक विद्यार्थियों की सूची देना है, जिसमें चारों गुजराती कॉलेज, इस्बा, इंदौर क्रिश्चयन कॉलेज, आइआइएल, रेनेंसा, अरिहंत, जैन दिवाकर, विशिष्ठ, एलिक्जिया समेत 36 कॉलेज शामिल है। अतिरिक्त संचालक डॉ. सुरेश सिलावट का कहना है कि प्रवेश सूची मिलने के बाद 4 सितंबर से कॉलेज लेवल काउंसिलिंग यानी सीएलसी राउंड शुरू होगा। वैसे जिन कॉलेज से सूची नहीं प्राप्त होगी। उन्हें अगले चरण में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी।
प्रवेश प्रक्रिया पर निगरानी रखेगी 5 सदस्यीय समिति
12 विभागों में प्रवेश की प्रक्रिया पर निगरानी रखने के लिए देवी अहिल्या विश्वविद्यालय ने हाई कोर्ट के आदेश पर बुधवार को पांच सदस्यीय समिति बनाई। अध्यक्ष कुलपति प्रो. रेणु जैन होगी। होलकर साइंस कॉलेज से डॉ. अनामिका जैन, एमजीएम मेडिकल कॉलेज की डॉ. पूर्णिमा डे, विवि के वरिष्ठ प्रोफेसर डॉ. पीएन मिश्रा और डॉ. एवी बजाज को सदस्य बनाया हैं। विश्वविद्यालय प्रशासन अब जल्द ही आवेदन बुलाने की प्रक्रिया शुरू कर सकता है। अधिकारियों के मुताबिक पंजीयन के बाद ऑनलाइन काउंसिलिंग के जरिए विद्यार्थियों का चयन किया जाएगा। 34 पाठ्यक्रमों में 2300 सीटें हैं।


Powered by Blogger.