REWA : प्रतिदिन बढ़ रहे कोरोना के मरीज, नगर निगम के 11 कर्मचारी व मऊगंज में 7 बैंककर्मी समेत 25 नए पॉजिटिव : आकड़ा पहुँचा 586


रीवा. जिले में शहर व ग्रामीण क्षेत्र के बाद अब कोरोना आफिस-आफिस पहुंचने लगा है। पहले डीआइजी फिर कलेक्ट्रेट में फूड कंट्रोलर अब असिस्टेंड फूड कंट्रोलर की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। गुरुवार को जिला मुख्यालय से लेकर ग्रामीण क्षेत्र में स्थित सरकारी दफ्तरों में दिनभर जांच का दौर चला। नगर निगम में शिविर लगाकर कर्मचारियों की जांच गई। जिसमें 11 कर्मचारियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मऊगंज में 7 बैंक कर्मचारी संक्रमित मिले हैं।


जिले में अब तक 586 हो चुके संक्रमित
मेडिकल रिपोर्ट के मुताबिक 25 नए केस आए हैं। सुबह 10 केस आए। जिसमें मऊगंज में बैंक कर्मचारियों के साथ सात केस आए हैं। शहर में नगर निगम ने शिविर लगाकर 210 सैंपल लिया। जिसमें 11 कर्मचारी संक्रमित मिले हैं। सबसे अधिक सफाई कर्मचारियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसी तरह जिला अस्पताल में चार अन्य चिकित्सकों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। सीएमएचओ डॉ. आरएस पांडेय के मुताबिक अब तक 586 की रिपोर्ट पॉजिटिव हो चुकी है। जिसमें 425 ठीक होकर घर पहुंच गए। एक्टिवस केस 146 हैं।


नागपुर से आए सतना के मरीज की रीवा में मौत
गुरुवार सुबह आठ बजे नागपुर से रीवा आए सतना के मरीज की दो घंटे के बाद ही मौत हो गई। प्रभारी अधीक्षक डॉ एके बजाज के मुताबिक सतना के अंदरा गांव निवासी मरीज नागपुर इलाज के लिए गया हुआ था। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद नागपुर से सतना भेज दिया गया। गंभीर हालत में रीवा स्थित संजय गांधी अस्पताल में भर्ती किया गया। दो घंटे तक वेंटीलेटर पर रहा। चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिय


अपर कलेक्टर की रिपोर्ट निगेटिव
कलेक्ट्रेट में अपर कलेक्टर इला तिवारी की दूसरी रिपोर्ट भी निगेटिव आई है। अपर कलेक्टर ने आदेश जारी किया है कि कलेक्ट्रेट के विभिन्न शाखा के कर्मचारियों की जांच शुक्रवार को कलेक्ट्रेट परिसर में होगी। सभी कर्मचारियों को कार्यालय में समय से उपस्थित होने का निर्देश दिया गया है।


फूड कंट्रोलर के कांटेक्ट की लिस्ट लंबी, चपेट में आए एएसओ
कलेक्ट्रेट भवन में खाद्य शाखा में फूड कंट्रोलर राजेन्द्र ङ्क्षसह की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद एनआइसी से लेकर खाद्यान्न शाखा को सेनेटाइज किया गया है। इस बीच एसएसओ अम्बोज श्रीवास्तव की भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। कंट्रोलन के कांटेक्ट की लिस्ट लंबी है। एनआइसी में डीआइजी और एनआइसी प्रभारी की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद कंट्रोलर एनआइसी में मीटिंग व अन्य दस्तावेज लेकर तीन से चार घंटे तक मौजूद रहे। डीआइजी जिस कुर्सी पर बैठे थे। उसी कुर्सी फूड कंट्रोलर वीडियो कान्फ्रेंस में बैठे थे। कंट्रोलर के कांटेक्ट में आए अब तक एक दर्जन का सैंपल लिया जा चुका है।


Powered by Blogger.