ALERT : रीवा में कोरोना संक्रमण हुआ बेकाबू 1500 के पार हुए मरीज : कलेक्टर ने लागू की ये नई व्यवस्था ...



रीवा. जिले में कोरोना का संक्रमण बेकाबू होता देख कलेक्टर इलैयाराज टी ने नई व्यवस्था लागू की है। इसके तहत अब कोई भी व्यक्ति बिना वाजिब कारण के देर रात सड़क पर नहीं निकलेगा। रात 10 बजे के बाद केवल वही लोग निकल पाएंगे जिन्हें इलाज के संबंध में अस्पताल आदि जाना हो या अन्य कोई अति आवश्यक कार्य हो। रात 10.30 से प्रातः 6 बजे तक पुलिस पेट्रोलिंग करेगी और बिना वाजिब कारण सड़कों या गलियों में घूमते पाए जाने पर कार्रवाई भी होगी।


कलेक्टर ने जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में यह जानकारी दी। बताया कि अब रात आठ बजे के बाद दुकानें बंद हो जाएंगी। उन्होंने जिले के नागरिकों से अपील की कि स्वास्थ्य विभाग स्तर से जारी दिशा निर्देशों का पालन करें और खुद के साथ परिवार व आसपास के लोगों को कोरोना से बचाएं।


उन्होंने कहा कि डेयरी, मेडिकल स्टोर, होटल व रेस्टोरेंट आदि रात 10 बजे तक खुले रह सकेंगे। कहा कि रात 10.30 से प्रातः 6 बजे तक पुलिस पेट्रोलिंग करेगी तथा अनावश्यक घूमने वालों पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने लोगों से अपील की कि भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में जाने से बचें, मास्क लगायें तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें ताकि कोरोना संक्रमण से बचाव हो सके।


दुर्गापूजा आयोजन के संदर्भ में जारी दिशा निर्देश

  • दुर्गा प्रतिमाओं की ऊंचाई 6 फीट से अधिक नहीं होगी
  • पूजा पंडाल 10 बाई 10 का होगा
  • किसी भी सामाजिक, सांस्कृतिक आयोजन में 100 से अधिक व्यक्ति उपस्थित नहीं होंगे
  • इन आयोजनों के लिए जिला प्रशासन से अनुमति लेना आवश्यक होगा
  • रात 10 बजे के बाद लाउड स्पीकर बजाने की अनुमति नहीं होगी 
  • गरबा व चल समारोह का आयोजन नहीं होगा
  • मूर्ति विसर्जन के लिए अधिकतम 10 व्यक्ति जा सकेंगे इसके लिए भी प्रशासन से अनुमति लेनी होगी व सूचना देनी होगी

मूर्ति विसर्जन के दौरान भीड-भाड़ से बचाव के लिए कई स्थानों पर विसर्जन कुंड की व्यवस्था होगी

कलेक्टर इलैयाराजा टी ने बताया कि जिले में कोरोना संक्रमित प्रकरणों की 50 प्रतिशत जांच रैपिड एंटीजन किट तथा शेष 50 प्रतिशत जांच आरटीपी के माध्यम से की जा रही है। रोजाना औसतन एक हजार जांचें हो रही हैं। जिले के शहरी क्षेत्र विशेषकर रीवा शहर में कोरोना पॉजिटिव प्रकरण अधिक संख्या में मिल रहे हैं।


कलेक्टर ने बैठक में उपस्थित व्यापारी संगठनों के प्रतिनिधियों से अपेक्षा की कि दूकानदारों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने व खरीददार से पर्याप्त दूरी बनाकर रखने व भीड़ न लगाने तथा मास्क अनिवार्यतः लगाकर रखने के लिये जागरूक करें। व्यावसायिक प्रतिनिधियों श्री रमेशकाली व कमल सचदेवा ने प्रशासन को पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया।


बैठक में विधायक मनगवां पंचूलाल प्रजापति ने कोरोना संक्रमण से मृत व्यक्ति के अंतिम संस्कार के लिये श्मशान घाट में अलग व्यवस्था कराने का प्रस्ताव रखा। वहीं समाजसेवी डॉ. प्रभाकर शास्त्री ने कोविड सेंटर में योगा ट्रेनिंग के लिए प्रस्ताव दिया।

Powered by Blogger.