REWA : शहर के मुख्य मार्ग रतहरा से चोरहटा तक की सड़क हालत ख़राब ,नेता और अफसर ने मिलकर किया करोड़ों का गबन : धूल और गड्ढों से गुजर रही जनता



रीवा। शहर के मुख्य मार्ग रतहरा से चोरहटा तक की हालत खराब होने की वजह से स्थानीय लोगों ने धरना प्रदर्शन किया। इस बीच लोगोंं ने आरोप लगाया कि वर्षों से इस सड़क के नाम पर नेता और अफसर मिलकर बंदरबाट कर रहे हैं लेकिन आम जनता को हर समय धूल और गड्ढों से होकर ही गुजरना पड़ता है। शहर कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष इंजी. दीपक सिंह की अगुआई में यह विरोध प्रदर्शन हुआ।


मिश्रा पेट्रोलपंप के पास सड़क पर ही नारेबाजी की गई। इस विरोध प्रदर्शन की वजह से काफी देर तक सड़क की आवाजाही बंद रही, जिसकी वजह से लंबा जाम लगने लगा था। मौके पर पुलिस की टीम पहुंची और वाहनों का आवागमन बहाल कराया। साथ ही नायब तहसीलदार ने मांगों का ज्ञापन लेकर उस पर कार्रवाई का आश्वासन दिया। दीपक सिंह ने आरोप लगाया कि रतहरा से चोरहटा रोड का कई बार टेण्डर हुआ, करोड़ों रुपए खर्च किए गए, चार वर्ष पहले ही इस पर काम हुआ था।


ठेकेदारों को लाभ पहुंचाने के लिए फिर से कार्य कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आए दिन इस सड़क पर दुर्घटनाएं हो रही हैं। इससे उडऩे वाली धूल से आम लोग परेशान हैं। सड़क किनारे व्यापारियों का कारोबार चौपट हो रहा है। यहां के जिम्मेदार नेता और अधिकारी सब इस समस्या पर खामोश हैं।


इस प्रदर्शन में प्रमुख रूप से उपेन्द्र सिंह, अमरजीत सिंह, मोलई पटेल, संजय सिंह, खुतेजा खान, जाहिदा बेगम, शिवकुमार पटेल, रत्नेष पाठक, नीलेश सिंह बघेल, प्रकाश सिंह, चन्द्रभान कोल, बेटू कोल, राजकुमार पटेल, इंजी. पवन सिंह, भूपेन्द्र सिंह, कन्हैया ताम्रकार, राकेश कुशवाहा, राजेश पटेल, शाहजहां बेगम, रोहित सिंह बघेल, विनोद सिंह, नंद कुमार दीपांकर, कुलदीप तिवारी, अभिषेक रावत, पंकज बंसल सहित अन्य कई लोग शामिल रहे। प्रदर्शनकारियों की ओर से चेतावनी दी गई है कि यदि सड़क निर्माण को लेकर प्रशासन गंभीरता नहीं दिखाएगा तो आंदोलन को और उग्र किया जाएगा।

हमारी लेटेस्ट खबरों से अपडेट्स रहने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FacebookInstagramGoogle News ,Twitter

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ जुड़े हमसे   

Powered by Blogger.