अर्नब की गिरफ्तारी पर बवाल : कांग्रेस के इशारे पर हुई कार्यवाही : शिवराज


मुंबई पुलिस ने बुधवार सुबह रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी को उनके घर से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के विरोध में कई भाजपा नेताओं ने प्रतिक्रिया दी है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसे लोकतंत्र का गला घोंटने वाली कार्रवाई बताया है।

शिवराज का तंज- कमलनाथ ने 15 महीनों में मध्यप्रदेश का सत्यानाश कर दिया

सीएम शिवराज ने कहा कि 'महाराष्ट्र में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता कुचल दी गई है। सवाल अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का नहीं, बल्कि लोकतंत्र का गला घोंट दिया गया। देश के प्रतिष्ठित पत्रकार अर्नब गोस्वामी के खिलाफ कांग्रेस के इशारे पर ये बर्बर कार्रवाई की गई है। कांग्रेस की कुत्सित मानसिकता एक बार फिर से सामने आ गई है। ये वही कांग्रेस है, जिसने इमरजेंसी में लोकतंत्र को कुचला था। अभिव्यक्ति की आजादी छीन ली थी, पत्रकारिता कुचल दी गई थी, लेकिन अंतत: जनता ने कुचलने वाली मानसिकता को कुचल दिया।

आमने सामने : दिग्विजय का वार बोले- EVM में चिप है, वो हैक हो सकती है, शिवराज ; हार दिखने लगी तो EVM का बहाना बना रहे 

सीएम ने आगे कहा कि 'लोकतंत्र को कुचलने का और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को रौंदने का महाराष्ट्र सरकार का ये प्रयास सफल नहीं होगा। जब भी किसी ने लोकतंत्र को कुचलने की कोशिश की है, तो अंतत: उसे परिणाम भुगतना पड़ा है। इस लोकतंत्र विरोधी कदम की कड़ी निंदा करता हूं।'

वीडी शर्मा ने कहा- कांग्रेस की इमरजेंसी वाली मानसिकता बरकरार
इधर, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने कहा कि कांग्रेस की इमरजेंसी वाली मानसिकता बरकरार है। उन्होंने कहा कि 'कार्रवाई में शिवसेना भी उनके साथ है। अर्नब गोस्वामी को गिरफ्तार करके महाराष्ट्र सरकार ने लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को कुचलने का काम किया है। इंतजार कर रहा हूं कि समय-समय पर प्रेस की आज़ादी की दुहाई देने वाले कब बाहर निकलेंगे?'

सीएम का ट्वीट

ये है मामला
मुंबई पुलिस ने बुधवार सुबह रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी को उनके घर से गिरफ्तार किया है। इसे लेकर अर्नब ने मुंबई पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। रिपब्लिक टीवी की ओर से अर्नब के घर की एक लाइव फुटेज को दिखाया गया, जिसमें पुलिस और अर्नब के बीच झड़प होती दिख रही थी। बताया गया है कि पुलिस ने अर्नब गोस्‍वामी को एक इंटीरियर डिजाइनर की आत्महत्या से जुड़े दो साल पुराने मामले में गिरफ्तार किया है। यह मामला पहले बंद हो गया था, लेकिन पिछले दिनों इस मामले में फिर से जांच के आदेश दिए गए हैं।

पुलिस जब अर्नब गोस्वामी को ले जा रही थी, तो तब उन्होंने कहा था कि मुझे पुलिस ने मारा है। समाचार एजेंसी एएनआई ने बताया कि अर्नब को उनके घर से अलीबाग पुलिस स्टेशन ले जाया गया था। इस गिरफ्तारी पर देश के तमाम मंत्रियों की प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं।

हमारी लेटेस्ट खबरों से अपडेट्स रहने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FACEBOOK PAGE INSTAGRAMGOOGLE NEWS ,TWITTER

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ जुड़े हमसे

Powered by Blogger.