REWA : वेब सीरीज फिल्म 'A Suitable Boy' के विरुद्ध अश्लील दृश्यों को लेकर राष्ट्रीय महामंत्री गौरव तिवारी ने एसपी रीवा से कड़ा विरोध दर्ज कराया


रीवा. Web series film 'A Suitable Boy' के खिलाफ बीजेपी ने आंदोलन छेड़ दिया है। इसकी शुरूआत भाजयुमो ने की उसके बाद मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने भी ट्वीट कर इस फिल्म के प्रदर्शऩ पर सख्त एतराज जताया। मंत्री ने पुलिस अधिकारियों को फिल्म के विवादास्पद कंटेंट का परीक्षण कराने को निर्देशित किया है।


भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री गौरव तिवारी ने नेटफ्लिक्स पर चल रही वेब सीरीज फिल्म 'ए सुटेबल ब्वॉय' में दिखाए अश्लील दृश्यों को लेकर एसपी रीवा से कड़ा विरोध दर्ज कराया। उन्होंने कहा है कि अगर डायरेक्टर ने अहिल्याबाई एवं महेश्वर की पृष्ठभूमि वाले सीन नहीं हटाए तो हिंदू समाज के लोग सड़कों पर उतरने को बाध्य होंगे। उन्होंने इसे लव जिहाद से जुड़ा बताया।


भाजयुमों नेता गौरव का कहना है मंदिर में जूते पहनकर जिस तरह के दृश्य फिल्माए गए हैं वह धार्मिक भावनाओं के विरुद्ध है। उनका आरोप है कि इस तरह की वेब सीरीज समाज में बांटने का काम कर रही है। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर यह हमारी भावनाओं को ठेस पहुंचाया जा रहा है। तिवारी का कहना है कि यह लव जिहाद से जुड़ा है, जिसमें नायिका एक सीन में कहती है कि तुमने मुझे अपना सरनेम क्यों नहीं बताया। इस पर वह कहता है कि इससे क्या फर्क पड़ता है। उनका यह भी कहना है कि जब इसकी शूटिंग मध्य प्रदेश में हुई थी तब प्रदेश में हमारी सरकार नहीं थी। इसका प्रीमियर भी देश से बाहर हुआ है।


रीवा पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार सिंह ने कहा कि किसी भी वेब सीरीज या फिल्म के फिल्मांकन को लेकर एक कमेटी का गठन होता है। कमेटी से एनओसी दिए जाने के बाद ही फिल्मांकन किया जाता है। वे पूरे मामले की जांच करेंगे और आरोप सही पाए जाते हैं तो संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इस मामले में ट्वीट कर कहा कि, ''एक ओटीटी मीडिया प्लेटफॉर्म पर 'ए सुटेबल ब्वॉय' नामक फिल्म जारी की गई है। इसमें बेहद आपत्तिजनक दृश्य दिखाए गए हैं जो एक धर्म विशेष की भावनाओं को आहत करते हैं। मैंने पुलिस अधिकारियों को इस विवादास्पद कंटेंट का परीक्षण कराने को निर्देशित किया है। पुलिस अधिकारी परीक्षण कर बताएंगे कि संबंधित ओटीटी प्लेटफार्म और फिल्म के निर्माता निर्देशक पर धार्मिक भावनाएं आहत करने के लिए क्या कानूनी कार्रवाई की जा सकती है।'

Powered by Blogger.