MP : शिक्षक भर्ती : भड़के चयनित शिक्षकों ने खोला मोर्चा कहा- मजाक बना दिया है भर्ती को, हर बार देते हैं नई तारीख

भोपाल। शिक्षक भर्ती प्रक्रिया पूरी करने की मांग को लेकर आज चयनित शिक्षक राज्य शिक्षा केंद्र के बाहर धरने पर बैठ गए हैं। प्रदेश भर से आये चयनित शिक्षक एकत्रित होकर अपनी आवाज बुलंद कर रहे हैं। वहीं भड़के शिक्षकों ने भर्ती प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए उनके साथ खिलवाड़ करना बताया है।

इंदौर में कार सवार युवक-युवती ने कई वाहनों को मारी टक्कर : पांच लोग घायल 

चयनित शिक्षकों का कहना है कि परीक्षा का रिजल्ट सितंबर में आया उसके बाद लगातार तारीख पर तारीख मिलती गई। हाल ही में 4 जुलाई को कोरोना और चुनाव का हवाला देते हुए परिवहन की समस्या बताते हुए चयनित प्रक्रिया रोक दी गई। लेकिन अब तो सब कुछ ठीक हो गया है। चुनाव हो चुके हैं। लॉकडाउन खुल चुका है। बावजूद चयनित प्रक्रिया पूरी नहीं हुई।

ड्रग माफिया आंटी से पूछताछ करने में जुटी स्पेशल टास्क फोर्स : रतलाम से अफीम और कोकिन की होती थी सप्लाई 

वहीं आज विरोध प्रदर्शन के बाद भी अधिकारी नहीं माने। शिक्षकों का कहना है कि अधिकारी ने हर बार की तरह इस बार अगले सत्र में भर्ती प्रक्रिया पूरी होने की बात कहकर मामले को शांत कर दिया। भड़के प्रदर्शनकारी शिक्षक ने सरकार से सवाल किया है कि अगर भर्ती नहीं करना था तो परीक्षा ही क्यों ली गई। 10 साल मेहनत का क्या होगा। आपके अनुसार हमारी पढ़ाई बेकार है। क्या पढ़ने के बाद अपने हक के लिए सड़क पर उतरकर लड़ना जरुरी है।

ड्रग माफिया के खिलाफ सख्त अभियान का दिखा असर, नशे के कारोबार से जुड़े दो आरोपियों के यहाँ कार्यवाही शुरू : भारी पुलिस बल रहा मौजूद

गौरतलब है कि 2019 में हुई शिक्षक भर्ती परीक्षा की चयन प्रक्रिया को कोरोना और उपचुनाव से कारण से रोकी गई थी। चयनित शिक्षकों का आरोप है कि पिछले 6 महीने से सबसे निवदेन कर रहे हैं, सभी विधायकों से मुलाकात कर चुके हैं लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हो रही है जिसके कारण धरने पर बैठने का निर्णय लेना पड़ा है।

Powered by Blogger.