REWA : शिवराज ने अधिकारियों को दी नसीहत कहा- बोलो उतना जितना कर सको ज्यादा ग्लैमर दिखाने की जरूरत नहीं है

रीवा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रीवा प्रवास के दौरान नगर निगम द्वारा तैयार की गई पंचवर्षीय कार्ययोजना का प्रजेंटेशन देखा। नगर निगम के अधिकारियों द्वारा तैयार की गई कार्ययोजना पर संतुष्टि जाहिर करते हुए कहा कि यह तो ठीक है लेकिन इस तरह की योजनाओं को धरातल पर भी उतारना होगा। उन्होंने कहा कि इस कार्ययोजना की एक प्रति हमारे पास रहेगी और उसकी नियमित समीक्षा भी करूंगा।

अब टोल प्लाजा क्राश कर अपने घर जाना भी हुआ कठिन, ₹35 देने पर ही आप जा सकते हैं अपने घर

मुख्यमंत्री ने कहा कि शहर का समावेशी विकास जरूरी है। हर क्षेत्र में कार्य किए जाएं, जो पूर्व से योजनाएं चल रही हैं उन्हें बेहतर तरीके से लागू किया जाए और नए प्रोजेक्ट पर योजनाबद्ध तरीके से काम हों। अधिकारियों ने कहा कि आम जनता की सुविधाओं के लिए ही योजनाएं बनाई जाती हैं इसलिए उन्हें किसी तरह की असुविधा नहीं होना चाहिए।

गलवान घाटी में हुए शहीद रीवा के सपूत को मिला 'वीर चक्र'

अधिकारियों से यह भी कहा कि हर साल के लिए टारगेट तय करें और उन्हें हर हाल में पूरा करने के संकल्प के साथ काम होना चाहिए। कहा कि शहरों की तरह ही अब गांवों के विकास के लिए भी कार्ययोजनाएं बनाई जाएंगी और उसके अनुरूप ही कार्य किए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने दोहराया कि रीवा के विकास में रुपयों की कमी किसी भी हालत में होगी, और आवश्यकता होगी तो राशि मुहैया कराई जाएगी। कहा कि पार्क और परिवहन की व्यवस्था को मॉडल के रूप में स्थापित करें।

CM शिवराज का प्रदेशवासियों के नाम संदेश वाचन बोले - मध्यप्रदेश को सर्वश्रेष्ठ राज्य बनायेंगे

माफिया के चंगुल से पब्लिक को मुक्त कराओ

मुख्यमंत्री ने माफिया पर कार्रवाई को लेकर एक बार फिर नगर निगम के अधिकारियों के सामने अपनी बात दोहराई। इस दौरान कलेक्टर एवं एसपी सहित अन्य अधिकारी भी थे। जिनसे मुख्यमंत्री ने कहा कि माफिया से जनता को मुक्त कराना पहला टारगेट होना चाहिए। चाहे वह भूमि से जुड़े माफिया हों, नशे के हों, शिक्षा, स्वास्थ्य सहित किसी भी क्षेत्र के हों उन पर सख्ती के साथ कार्रवाई होना चाहिए। भोपाल, इंदौर सहित कई शहरों में चल रही कार्रवाई का उदाहरण देते हुए कहा कि रीवा में भी उसी तरह से सख्त कार्रवाई करो।

बोलो उतना जितना कर सको

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को नसीहत देते हुए कहा कि बोलो उतना जितना कर सको। ग्लैमर दिखाने की जरूरत नहीं है, आवश्यकता है कि आम व्यक्ति तक शासन की योजनाएं पहुंचे और उसे किसी तरह की असुविधा नहीं हो।

सीवरेज के कार्यों पर असंतुष्ट रहे मुख्यमंत्री

शहर में चल रहे सीवरेज प्रोजेक्ट के कार्यों की गति को लेकर मुख्यमंत्री नाराजगी जाहिर की और कहा कि जो महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट हैं उनका समय पर पूरा होना भी आवश्यक है। इनके कार्यों से आम जनता को परेशानी होती है। अधिकारियों से कहा कि नियमित समीक्षा करो और आवश्यकता पड़े तो सख्त कार्रवाई भी होना चाहिए। स्टार्म वाटर ड्रेन के कार्यों पर भी असंतुष्टि जाहिर की।

विधायकों ने भी उठाए मुद्दे

कलेक्ट्रेट में हुई बैठक में जिले के विधायक भी पहुंचे। शहर के विकास के रोडमैप पर उन्होंने भी अपना सुझाव दिया। सिरमौर विधायक दिव्यराज सिंह ने कहा कि वेंकट भवन शहर के मध्य ऐतिहासिक और आकर्षक भवन है, इसका कायाकल्प कराया जाए। साथ ही वैजू धर्मशाला के बेहतर रखरखाव की बात भी कही। सिंह ने लक्ष्मणबाग संस्थान के वैभव का उदाहरण देते हुए कहा कि वहां पर कुछ अव्यवस्थाएं भी हैं उनको सुधारने के लिए भी शासन स्तर पर कार्ययोजना बनाए जाने की आवश्यकता है। गिरीश गौतम ने शहर में तेजी से बढ़ती अवैध कालोनी पर चिंता जाहिर की तो सीएम ने कहा कि माफिया पर कार्रवाई के लिए निर्देश दिए गए हैं, जिसमें यह भी शामिल है। मऊगंज विधायक प्रदीप पटेल ने भी अपने क्षेत्र की कुछ समस्याओं को उठाया।

Powered by Blogger.