BHOPAL : शादी करने पहुंचे चार-चार दूल्हे, लड़की तो मिली नहीं : फिर हो गया ये ..


भोपाल: राजधानी भोपाल की कोलार थाना पुलिस ने शादी करवाने के नाम पर धोखधड़ी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को आरोपी बनाया है, जिसमें एक महिला भी शामिल है। आरोपियों के नाम कुलदीप तिवारी रिंकू और रोशनी तिवारी बताई जा रही है।

पिकनिक मांगी मौत मिली : जिस पति को पाने के लिए युवती ने धर्म तक बदल डाला उसी पति ने गला घोंटकर दे डाली मौत

पुलिस का कहना है इन लोगो ने शादी करवाने के नाम पर लाखों की ठगी है। जालसाजों ने सगुन जनकल्याण समिति के नाम से एक फर्जी एजेंसी खोल रखी थी। यह आरोपी सबसे ज्यादा गांव देहात के लोगो को अपना शिकार बनाते थे, जिसके लिए पंपलेट छपवाकर गांव-देहात में बांट देते थे। गांव-देहात में जिनकी शादी नहीं होती थी, वह लोग पंपलेट पर दिए नंबर के आधार पर इनसे संपर्क करते थे। इसके बाद गिरोह का सरगना कुलदीप तिवारी और महिला रोशनी ठगी की घटना को अंजाम देते। यह खुलासा आगर मालवा गांव के परिवार की शिकायत पर हुआ है।

पत्नियों को पति के ज़ुल्म से बचाने के लिए MP में बनेगा नया कानून

दरअसल, गिरोह के सरगना कुलदीप तिवारी और रोशनी ने एक युवती को चार लोगों को दिखाया। सबसे दिलचस्प बात तब सामने आई, जब शादी करने वाले युवकों ने युवती को पंसद कर लिया। इसके एवज में जालसाजों ने उनसे बीस-बीस हजार रुपए ऐंठे और 25 मार्च को एक सम्मेलन से शादी कराने का ऑफर दिया। जब चारों लोग दूल्हा बनकर भोपाल आए, तो पता चला कि उनके साथ ठगी हुई है।

होली के दिन आने-जाने पर प्रतिबंध : शनिवार रात 9 से सोमवार सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन

मामले की जांच में सामने आया है कि गिरोह का सरगना शिव सेना में कार्यकर्ता है और पिछले महीने 14 फरवरी को वेलेनटाइन-डे पर उसने एक रेस्टोरेंट में तोड़फोड़ की थी। तब हबीबगंज पुलिस ने उसे पकड़ा था और उसके खिलाफ तोड़फोड़ की धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया था। एसपी साउथ साईं कृष्णा थोटा का कहना है इनके पास कुछ गरीब परिवार की लड़कियां हैं, जो चंद पैसे के लिए ऑनलाइन वेब साइट पर फोटो अपलोड करने के लिए तस्वीर क्लिक करवा लेती है। फिलहाल इस मामले में और भी जांच की जा रही है और उन आरोपियों की तलाश भी कर रहे है, जल्द उनको गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Powered by Blogger.