MP : वैक्सीन की दूसरी डोज लेने के बाद सुनिए इस डॉक्टर की जुबानी, कैसे कोरोना वैक्सीन से बच सकती है लोगों की जान

जबलपुर। कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लेने के बाद भी संक्रमित हुए लोगों को लेकर भले ही तरह-तरह की बात की जा रही हों लेकिन सच्चाई ये है कि कोरोना वैक्सीन से ही लोगों की जान कोरोना से बचाई जा सकती है। जबलपुर के डॉक्टर अजय सेठ इसका जीता जागता उदाहरण हैं।

LOCKDOWN को लेकर CM शिवराज का बड़ा बयान, मैं आर्थिक गतिविधियां बंद...

शहर के अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉक्टर अजय सेठ कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज़ लगवा चुके थे लेकिन असावधानी बरतने पर वो हाल ही में कोरोना संक्रमित हो गए। वैक्सीन के दोनों डोज़ के बावजूद उनके संक्रमित हो जाने पर वैक्सीन पर ही सवाल उठाए जाने लगे थे लेकिन डॉक्टर सेठ की मेडिकल जांच बताती है कि वैक्सीन लगवाने के कारण ही उनकी जान बच पाई।

राजधानी भोपाल समेत इंदौर, जबलपुर में रविवार को LOCKDOWN का ऐलान : 31 मार्च तक स्कूल कॉलेज बंद

वैक्सीन की डोज़ लेने के कारण डॉ अजय सेठ के फेफड़े संक्रमित नहीं हो पाए जबकि कोरोना फेफड़ों पर ही सबसे बुरा असर करता है, वहीं वैक्सीन का फायदा ये भी हुआ कि कोरोना होने के बाद भी डॉ सेठ के ब्लड पैरामीटर्स बिगड़ नहीं पाए।

विधायक रामबाई के पति की गिरफ्तारी के लिए 5 टीमें गठित, ये पांच 5 आरोपी अभी भी फरार

डॉ सेठ फिलहाल सिर्फ हल्के बुख़ार से पीड़ित हैं जिनके जल्द स्वस्थ्य होकर अस्पताल से डिस्चार्ज होने की उम्मीद जताई गई है। फिलहाल स्वास्थ्य लाभ ले रहे डॉक्टर अजय सेठ ने खुद एक बयान जारी करके कोरोना वैक्सिनेशन के फायदे गिनाए हैं जिन्होंने लोगों से भ्रम में ना आकर वैक्सिनेशन ज़रूर करवाने की अपील की है।

कमलनाथ ने कांग्रेस नेता की हत्या पर बनाई 6 विधायकों की कमेटी, भाजपा सरकार पर सुरक्षा हटाने का लगाया आरोप


ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या गूगल न्यूज़ या ट्विटर पर फॉलो करें. www.rewanewsmedia.com पर विस्तार से पढ़ें  मध्यप्रदेश  छत्तीसगढ़ और अन्य ताजा-तरीन खबरें

विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें  7694943182, 6262171534

Powered by Blogger.