MP : शर्मनाक : इंदौर में रेमडेसिविर की सौदेबाजी ; 70 हजार रुपए में बेच रहे थे इंजेक्शन निजी अस्पताल के डॉक्टर-नर्स और MR गिरफ्तार

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

इंदौर। कोरोना के बीच रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी जारी है। राजेंद्र नगर पुलिस ने इंजेक्शन की कालाबाजारी करते एक नर्स और मेडिकल रिप्रजेंटेटिव को गिरफ्तार किया है। नर्स पीड़ित से 35 हजार रुपए में इंजेक्शन का सौदा कर रही थी। पीड़ित युवक ने राजेंद्र नगर थाना प्रभारी अमृता सोलंकी को इसकी शिकायत की। संबंधित ऑडियो भी सुना दिया है। शनिवार दोपहर राजेंद्रनगर पुलिस ने नीलेश नाम के युवक को 22 हजार रुपए में इंजेक्शन का सौदा करते हुए पकड़ा था। उसी की निशानदेही पर ये कार्रवाई की गई है।

इस गांव में शादी समारोह पर 50 लोगों की जगह पहुँचे 500 लोग, पुलिस के आते ही नाच-गाना छोड़कर भागे बाराती : DJ जब्त

राजेंद्र नगर थाना प्रभारी अमृता सोलंकी ने बताया, पीड़ित ने शिकायत की थी, जिस पर बारोट अस्पताल की नर्स कविता चौहान निवासी स्कीम नंबर 71 वह उसके साथ अन्य दो युवक शुभम परमार और भूपेंद्र परमार को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पीड़ित को फोन पर आरोपियों द्वारा 35 हजार रुपए मांगने की शिकायत भी मिली थी। पीड़ित ने दोनों की बातचीत रिकॉर्ड कर ली।

शिवराज का प्रदेशवासियों को सम्बोधन कहा; संक्रमण की चेन तोड़ना आवश्‍यक, 30 अप्रैल तक जारी रहेंगी पाबंदियां

पीड़ित पक्ष द्वारा रिकॉर्डिंग थाने पर दी गई थी। ऑडियो में नर्स का साफ कहना था, सुबह तक दो इंजेक्शन थे। एक बचा है। बारोट अस्पताल नॉन कोविड-19 अस्पताल है। आईसीयू में आकर ले जाना।

महाराष्ट्र से UP जाने वाली भीड़ को नियंत्रित करने नया रूट चार्ट जारी : भोपाल- हबीबगंज पर ठहरेंगी ये ट्रेन

10 दिन पूर्व सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में पीड़ित पक्ष द्वारा नर्स द्वारा इंजेक्शन बेचने का आरोप लगाया गया था। उसका भी वीडियो वायरल हुआ था, लेकिन मामले में कार्रवाई नहीं हुई।

Powered by Blogger.