MP में बेकाबू कोरोना संक्रमण को देखते अब पन्ना-मंडला-देवास जिले में भी रहेगा टोटल बंद

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें


भोपाल। मध्य प्रदेश में बेकाबू होते कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार लॉकडाउन की तरफ बढ़ती दिखाई दे रही है, हालांकि सरकार ने इसे लॉकडाउन की बजाय कोरोना कर्फ्यू नाम दिया है। सरकार ने अभी इसके आधिकारिक आदेश तो नहीं निकाले हैं, लेकिन जिस तरह धीरे-धीरे जिलेवार लॉकडाउन लगाया जा रहा है, उससे ऐसा होते हुए ही दिख रहा है। सरकार ने रविवार को पन्ना में 15 अप्रैल को सुबह 6 बजे तक, जबकि मंडला और देवास जिलों में 19 अप्रैल को सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन की घोषणा कर दी है।

इंदौर-भोपाल में बेड से लेकर श्मशान तक में वेटिंग; 24 घंटे पर प्रदेश में मिले 5939 केस : इंदौर में सबसे ज्यादा 919, भोपाल में 793

सरकार ने 1 दिन पहले ही 12 जिलों में 9 दिनों का लॉकडाउन लगा दिया था। यह लॉकडाउन शाजापुर, छिंदवाड़ा, कटनी, रतलाम, बैतूल, खरगोन, सिवनी, बड़वानी, राजगढ़, बालाघाट, विदिशा और नरसिंहपुर में लगाया गया। इन जिलों को पूरी तरह से बंद करने का फैसला आपदा प्रबंध समिति और मंत्रिमंडल के सदस्यों की हुई बैठक के बाद लिया गया।

भोपाल में 300 से ज्यादा अधिकारी और पुलिसकर्मी संक्रमित; 70 से ज्यादा का अस्पतालों में इलाज चल रहा इलाज : 4 से अधिक की मौत

सरकार इंदौर के साथ राऊ, महू, शाहजहांपुर और उज्जैन के शहरी क्षेत्रों में 19 अप्रैल की सुबह तक लॉकडाउन का फैसला ले चुकी है, यह सभी पहले 12 अप्रैल की सुबह 6:00 बजे खुलने वाले थे, बड़वानी, राजगढ़, विदिशा जिले में भी 19 अप्रैल की सुबह तक लॉकडाउन को बढ़ाया गया है।

Powered by Blogger.