MP : इंदौर-भोपाल में बेड से लेकर श्मशान तक में वेटिंग; 24 घंटे पर प्रदेश में मिले 5939 केस : इंदौर में सबसे ज्यादा 919, भोपाल में 793

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

     

मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण से मुसीबतें बढ़ती जा रही हैं। भोपाल और इंदौर में बेड से लेकर श्मशानों तक में वेटिंग चल रही है। भोपाल के श्मशान घाट के प्रबंधकों ने शनिवार को नगर निगम और अस्पतालों को फोन करके और शव न भेजने की अपील की है। यहां 56 कोरोना संक्रमितों के शव लाए गए थे। हालांकि सरकारी रिकॉर्ड में 1 की मौत कोरोना से बताई गई है।

भोपाल में 300 से ज्यादा अधिकारी और पुलिसकर्मी संक्रमित; 70 से ज्यादा का अस्पतालों में इलाज चल रहा इलाज : 4 से अधिक की मौत

इंदौर में 40 बड़े अस्पतालों में 3 से 4 दिन की वेटिंग है। ICU के 80% बेड फुल हैं। रेमडेसिविर के 2 हजार इंजेक्शन की कमी बनी हुई है। 24 घंटे के प्रदेश में 5939 केस मिले हैं। 24 की मौत हुई है। इंदौर में सबसे ज्यादा 919, भोपाल में 793, ग्वालियर में 458, जबलपुर में 402 संक्रमित मिले। चारों बड़े शहरों में यह अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है।

पन्ना, मंडला और देवास में लॉकडाउन बढ़ा, भोपाल पर आज फैसला

प्रदेश में काेरोना मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही लॉकडाउन भी बढ़ाया जा रहा है। पन्ना और मंडला के शहरी क्षेत्रों, देवास शहर और गुना के नगरीय क्षेत्रों में 19 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन बढ़ाया गया है। इसके पहले छिंदवाड़ा, कटनी, रतलाम, बैतूल, खरगोन, सिवनी, बड़वानी, राजगढ़, बालाघाट, विदिशा, नरसिंहपुर जिलों में 12 अप्रैल से 22 अप्रैल तक लॉकडाउन बढ़ाया गया था। वहीं, जबलपुर शहर में भी 9 दिन का लॉकडाउन बढ़ाया गया है। 

स्वास्थ विभाग के प्रमुख सचिव का बयान : कोरोना से मौतों का बढ़ा आकड़ा; 90 फीसदी मरीज लगवा चुके थे रेमडेसिविर इंजेक्शन

इसके अलावा इंदौर,महू, राऊ नगर, शाजापुर और उज्जैन के शहरी क्षेत्र में 19 अप्रैल तक का लॉकडाउन बढ़ाया गया है। भोपाल में लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर आज यानी रविवार को फैसला लिया जाएगा। हालांकि कोलार-शाहपुरा क्षेत्र में पहले से ही 7 दिन का लॉकडाउन लगाया गया है। सभी जिलों में नाइट कर्फ्यू पहले से ही है।

भोपाल: श्मशान घाट पर शव लाने के लिए मना करना पड़ा

शनिवार को भोपाल के श्मशान घाटों पर कोराेना संक्रमितों के शव जलाने के लिए जगह की कमी पड़ गई। ऐसे में में विश्रामघाट प्रबंधकों को नगर निगम और अस्पतालों से कहना पड़ा कि अब शवों को न भेजें। 56 कोरोना संक्रमितों के शव श्मशान घाट और कब्रिस्तान लाए गए। अब तक का सबसे ज्यादा आंकड़ा है।

बड़ा खुलासा : अस्पतालों और बाजार से क्यों गायब हो गई रेमडेसिविर?

भदभदा विश्राम घाट में 34 कोविड शव पहुंचे। सुभाषनगर विश्राम घाट 16 वहीं झटा कब्रिस्तान में 6 शव दफनाए गए। भदभदा में पिछले 2 दिनों में 97 शवों के दाह संस्कार होने से लकड़ियां कम गई थीं, बाद में वेंडर और वन विभाग ने 500 क्विंटल उपलब्ध कराईं। भोपाल में आसपास के जिलों में भर्ती मरीजों की मौत के बाद अंतिम संस्कार के लिए यहीं लाया जाता है।

इंदौर में सबसे ज्यादा मरीज मिल रहे, बेड और इंजेक्शन के लिए मारामारी

इंदौर में इस समय सबसे ज्यादा 7713 एक्टिव केस हैं। शनिवार रात यहां 919 संक्रमित मिले और 5 की मौत हो गई। कोरोना वॉरियर डॉ. दीपक सिंह (35) ने भी कोरोना से लड़ते हुए दम तोड़ दिया। वह महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज में इंटर्न थे। उनके फेफड़े 90% तक खराब हो गए थे। शहर के 40 बड़े अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों को भर्ती होने के लिए 3 से 4 दिन की वेटिंग मिली है। रेमडेसिविर इंजेक्शन जरूरत से 2 हजार की कम सप्लाई हो रही है। यहां रोजाना इंजेक्शन के लिए मारामारी हो रही है।

जबलपुर : मौतों पर उठ रहे सवाल

यहां 24 घंटे में 402 संक्रमित मिले हैं, 4 की मौत हुई है, लेकिन मौत के आंकड़ों पर सवाल खड़े होने लगे हैं। जबलपुर के पाटन से बीजेपी विधायक और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री अजय विश्नोई ने अपनी ही सरकार को आड़े हाथ लिया है। काेरोना से निपटने के लिए शनिवार को CM शिवराज सिंह चौहान की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में विश्नोई ने प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए।

लाचार सिस्टम ध्यान दें सरकार : सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में इंजेक्शन के लिए दर-दर भटक रहे परिजन; ब्लैक में रेमडेसिविर इंजेक्शन बेच रही सिस्टर इंचार्ज

उन्होंने कहा कि शुक्रवार को कोरोना से 14 मरीजों की मौत हुई। इसकी सूची मेरे पास है, लेकिन प्रशासन सिर्फ 2 माैतें बता रहा है। यह सच्चाई क्यों छिपाई जा रही है? इस पर मुख्यमंत्री ने उन्हें टोका- अजय, सभी जिलों के साथ बात करनी है। ऐसे में जरूरी सुझाव हों तो दें। इस पर विश्नोई ने कहा- यदि आप सच नहीं सुनना चाहते, तो मैं चुप हो जाता हूं। बता दें कि प्रदेश के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री अजय विश्नोई वैक्सीन कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बाद कोरोना संक्रमित हो चुके हैं।

ग्वालियर : सैंपल देने वाला हर पांचवां व्यक्ति पॉजिटिव निकल रहा

ग्वालियर में अब कोरोना पिछले अपने सारे रिकॉर्ड तोड़ चुका है। एक दिन में 100 से ज्यादा केस की बढ़ोतरी हुई है। 24 घंटे के अंदर 2137 सैंपल की जांच में 458 लोग संक्रमित निकले, जो अभी तक का एक दिन में सबसे ज्यादा आंकड़ा है। 4 मरीज की मौत हुई है। शुक्रवार को 323 केस आए थे। यहां संक्रमण दर 21% से ज्यादा है। सैंपल देने वाला हर पांचवां व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव निकल रहा है। जिला क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी ने हर रोज शाम 6 बजे ही दुकानें बंद कराने का निर्णय लिया गया है।

Powered by Blogger.