MP : पुराना भोपाल पूरी तरह सील : राजधानी के सबसे पुराने और बड़े मदरसा मस्जिद तर्जुमा वाली के संस्थापक अब्दुल रज्जाक का इंतकाल : भारी पुलिस बल तैनात

राजधानी के सबसे पुराने और बड़े मदरसा मस्जिद तर्जुमा वाली के संस्थापक संचालक मुफ्ती अब्दुल रज्जाक साहब का बुधवार रात इंतकाल हो गया। स्वतंत्रता सेनानी रहे मुफ्ती रज्जाक के इंतकाल की खबर से शहर में शोक की लहर छा गई। गुरुवार को उनके जनाजे में शामिल होने के लिए लोग जमा होने लगे। इसे देखते हुए पुलिस प्रशासन ने पुराने भोपाल को पूरी तरह सील कर दिया। इसके लिए भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। दोपहर बाद गार्ड ऑफ ऑनर देकर सुपुर्द ए खाक किया गया।

   

जगह-जगह बैरिकेड्स लगाकर रास्ते बंद कर दिए गए हैं। लोगों से लगातार घर में रहने की अपील की जा रही है। डीआईजी इरशाद वली और कलेक्टर अविनाश लवानिया ने लोगों से घर में रहने की अपील की है। कोरोना प्रोटोकाॅल का पालन करें। अगर कोई इसका पालन नहीं करता है, तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

राजकीय सम्मान के साथ सुपुर्द ए खाक किया गया।

मुफ्ती अब्दुल रज्जाक साहब राजधानी के सबसे बड़े दीनी मदरसा के संचालक थे। शहर और प्रदेश भर के कई बड़े काजी, मुफ्ती और आलिम उनके शागिर्द रहे हैं। स्वतंत्रता सेनानी रहे रज्जाक को सियासी, सामाजिक, दीनी और हर वर्ग में समान सम्मान हासिल था। उनकी नमाज ए जनाजा और दफन के लिए समय निर्धारित करने की बैठक फिलहाल जारी है।

MP UNLOCK : 50% क्षमता से खुलेंगे दफ्तर; पंजीयन और एग्रीकल्चर कार्यालय को पूरी अनुमति, माॅल और सिनेमाहाल नहीं खुलेंगे : मंदिर में एक बार में दो लोगों को ही प्रवेश

भोपाल टाकीज, शाहजहानाबाद, सिंधी कॉलोनी, भारत टाकीज, बुधवारा, इतवारा, काली मंदिर, कमला पार्क, कोहेफिजा आदि स्थानों पर सुबह से ही रास्ते रोक दिए गए हैं। इन इलाकों में सख्त पुलिस पहरे के चलते किसी को बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा है।

शिवराज बोले- किस जिले में क्‍या रियायत देनी है यह फैसला क्राइसेस मैनेजमेंट कमेटी करेगी, स्‍थानीय हालातों के अनुसार मिलेगी लॉकडाउन में छूट

बदलना पड़ा समय और नमाज का स्थान

लॉक डाउन के हालात और कर्फ्यू की पाबंदियों के बीच लोगों के जमने की संभावना को देखते हुए मुफ्ती के परिजन ने ऐन वक्त पर कार्यक्रम में बदलाव कर दिया है। पहले तय समय दोपहर दो बजे की बजाय नमाज दोपहर 12 बजे इकबाल मैदान की बजाय तर्जुमा वाली मस्जिद में ही अदा करने की बात परिजनों ने कही। लेकिन प्रशासन ने इजाजत नहीं दी। दफनाने के लिए भी कम संख्या में लोगों को शामिल होने की हिदायत दी गई है।

UNLOCK MP शर्तें लागू : धीरे- धीरे शुरू होंगी शहर की एक्टिविटी, कोरोना टेस्ट के साथ वैवाहिक कार्यक्रमों में 20 लोगों को अनुमति : भीड़ से बचने धारा 144 लागू रहेगी

Powered by Blogger.