सतना में अनोखी सजा : सड़कों पर बेवजह घूमने वालों से पुलिस लिखवा रही राम नाम का लेख, एसआई बोले- इससे सद्बुद्धि आएगी

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

सतना। लॉकडाउन में बेवजह सड़कों पर घूमने वालों को सतना में अनोखी सजा दी जा रही है। कोलगवां क्षेत्र के बाबा दयालदास आश्रम के सामने स्थित सिंधी कैंप चेकिंग पॉइंट पर पिछले ​तीन दिन से रोजाना चेकिंग जारी है। यहां घर से बेवजह निकले लोगों से सजा के तौर पर किताब में राम नाम लिखवाया जा रहा है। इसमें व्यक्ति को 4 पेज राम नाम लिखना अनिवार्य है।

रीवा मेडिकल कॉलेज में ब्लैक फंगस से तीन मरीज की मौत, मरने वालों में दो सतना और एक रीवा का युवक : सात अभी भी भर्ती

हालांकि ये नियम सिर्फ हिंदू धर्म वालों के लिए है। अन्य धर्म से जुड़े लोगों पर जुर्माना लगाया जाता है या उठक बैठक लगवाई जाती है। नियम तोड़ने वालों को राम नाम की किताब कोलगवां थाने के एसआई संतोष सिंह उपलब्ध करवाते हैं।

लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले 38 व्यक्तियों पर सिविल लाइन पुलिस ने की कार्यवाही

संतोष सिंह का मानना है कि राम का नाम लिखने से सद्बुद्धि आती है। एक दिन मन में ख्याल आया, क्यों न कुछ ऐसा किया जाए, जिससे कोरोना कर्फ्यू तोड़ने वालों को पैसे भी नहीं देने पड़ें और सजा भी दे दी जाए। ऐसे दंड से शायद भगवान के नाम पर ही नियम तोड़ने वाले घर से न निकलें। इसके बाद स्टेशनरी वाले से संपर्क कर राम नाम की बुकलेट मंगाई। सिंधी कैँप के चेकिंग पॉइंट पर रखवा दी। यहां नियम तोड़ने वालों को राम नाम लिखने की सजा देना चालू कर दिया।

फरिश्ता से कम नहीं सतना पुलिस, एक फोन पर रिटायर्ड कैप्टन को घर बैठे उपलब्ध कराई दवा

वायरल हो रहा मैसेज

सतना पुलिस द्वारा राम नाम लिखने के मैसेज समेत फोटो वायरल हो रही है। वहीं, कुछ मीडिया से जुड़े लोगों ने बताया कि इससे पहले दूसरी जगह भी ऐसा मामला सामने आया था। इसे देखकर कोलगवां पुलिस कर रही है। सतना के बाबा दयाल दास आश्रम के सामने मिलने वाली सजा चर्चा का विषय बना हुआ है।

Powered by Blogger.