REWA CORONA UPDATE : रीवा वासियों को बड़ी रहत / आज 1420 सैंपल में मिले 23 पॉजिटिव : एक्टिव हुए केस 715

रीवा. जानलेवा हो चुके कोरोना की दूसरी लहर से रीवा जिले में अब राहत की खबर है। यहां शुक्रवार को जारी कोरोना बुलेटिन में सिर्फ 23 पॉजिटिव मरीज मिले है। वहीं एक्टिव केसों की संख्या जिले में अब 715 ही बची है। जबकि आरटी-पीसीआर के 714 सैंपल में 15 संक्रमित मरीज मिले। वहीं रैपिड एंटीजन के 706 जांच में 8 पॉजिटिव आए हैं। कुल 1420 सैंपल में 23 पॉजिटिव आए हैं।

REWA ALERT : मेडिकल कॉलेज में इलाज कराने आए सतना के युवक की डॉक्टरों ने निकाली आंख : अब तक 7 की मौत

अब कुल एक्टिव केसों की संख्या 715 हो गई है। जो महीनों की मेहनत के बाद कम हुई है। जबकि 175 नए मरीज ठीक होकर अपने अपने घर पहुंचे हैं। अभी तक 16261 कुल पॉजिटिव केस आ चुके हैं। जहां स्वस्थ्य होकर घर जाने वालों की संख्या 15437 है। हालांकि सरकारी रिकॉर्ड में अभी तक महज 109 मौतें ही हुई हैं। वहीं मृत्यु के नए प्रकरण कोई नहीं आएं हैं।

REWA में 10 डॉक्टरों पर FIR : SP का अल्टीमेटम कहा- कानून के दायरे में रहें डॉक्टर, कोई भी हो, अपराध बर्दाश्त नहीं किया जाएगा

सीएमएचओ डॉ. एमएल गुप्ता ने बताया कि रीवा जिले में बीते 1 से 28 मई तक 5467 संक्रमित आए हैं। जहां एक मई को सबसे ज्यादा 346 केस मिलने के बाद सनसनी फैल गई थी। इसके बाद धीरे धीरे पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ घटा है। ऐसे में 28 मई को अभी तक का सबसे कम 23 केस आए है।

पहले की मारपीट फिर दिखाई ताकत : पीड़ित पर भी पुलिस ने दर्ज कर दिया मामला .... खुद को न्यायप्रिय बताने की कोशिश कर रही रीवा पुलिस

जिससे रीवा अर्बन में 9 तो ग्रामीण क्षेत्र में 14 नए केस आएं है। इस दौरान त्योंथर और जवा में कोई केस नहीं मिले है। वहीं गोविंदगढ़ में 1, नईगढ़ी 2, गंगेव 1, रायपुर कर्चुलियान में 4, मऊगंज में 3, हनुमना में 1, सिरमौर में 2 संक्रमित आएं है।

मई माह में आए केस

1 मई 346

2 मई 339

3 मई 330

4 मई 341

5 मई 301

6 मई 309

7 मई 313

8 मई 297

9 मई 263

10 मई 251

11 मई 249

12 मई 232

13 मई 226

14 मई 225

15 मई 189

16 मई 170

17 मई 158

18 मई 175

19 मई 158

20 मई 148

21 मई 127

22 मई 97

23 मई 59

24 मई 46

25 मई 39

26 मई 31

27 मई 25

28 मई 23

कुल केस 5467

(स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी कोरोना रिपोर्ट के आधार पर)

प्रदेश में तीसरी लहर न आए ऐसे प्रयास किए जाए: शिवराज

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार की दोपहर वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में कहा है कि प्रदेश में इस तरह के प्रयास किए जाएं। जिससे कोरोना की तीसरी लहर आए ही नहीं। किल-कोरोना अभियान-4 में अधिक से अधिक टेस्ट किए जाएं। कन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग की जाए तथा माइक्रो कंटेनमेंट क्षेत्र बनाए जाएं। एक-एक मरीज की पहचान कर उन्हें निशुल्क मेडिकल किट प्रदान करने का कार्य निरंतर जारी रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना नियंत्रण का मूलमंत्र है जनता की भागीदारी। गांव, कस्बों और शहरों के क्राइसिस मैनेजमेंट समूह निरंतर सक्रिय रूप से कार्य करें। प्रदेश की 22 हजार 813 ग्राम पंचायतों में से 20 हजार 565 ग्राम पंचायतें कोरोना मुक्त हैं। प्रदेश के 46 जिलों में 5 प्रतिशत से कम पॉजिटिविटी दर है। छह जिलों में साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर इंदौर (8.1 प्रतिशत), भोपाल (7.7 प्रतिशत), सागर (7 प्रतिशत), रतलाम (6.1प्रतिशत), अनूपपुर (6.6 प्रतिशत) तथा रीवा में (5.2 प्रतिशत) है।

ब्लैक फंगस को लेकर अलर्ट

प्रदेश में ब्लैक फंगस के उपचार के लिये 6100 एम्फोटेरिसिन-बी इंजेक्शन का अलाटमेंट मिला है। 2500 इंजेक्शन प्राप्त हो चुके हैं। इंजेक्शन प्रदेश के प्रत्येक जिले को भेजवाए जा रहे हैं। इसी के साथ इसकी टैबलेटस भी प्राप्त हो रही हैं। वर्तमान में इस रोग के 1061 मरीज हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्राणायाम से फेफड़े मजबूत होते हैं। स्वास्थ्य विभाग, आयुष विभाग के साथ मिलकर योग एवं प्राणायाम का प्रशिक्षण सभी इच्छुक व्यक्तियों को देने की व्यवस्था करे। वर्तमान में 'योग से निरोग' कार्यक्रम के अंतर्गत होम आइसोलेशन और कोविड केअर सेंटर्स आदि में योग का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

टीकाकरण के लिए नवीन निर्देश जारी

प्रदेश में शासकीय संस्थाओं में संचालित किये जा रहे 18 से 44 आयु संवर्ग के कोविड-19 टीकाकरण के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संचालक ने प्रदेश के जिला टीकाकरण अधिकारी को नवीन दिशा निर्देश जारी किये हैं। 18 से 44 आयु संवर्ग के कोविड-19 टीकाकरण के लिए प्रदेश के 4 महानगरों में भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर और 12 नगर निगम क्षेत्रों बुरहानपुर, छिंदवाड़ा, सतना, रीवा, देवास, कटनी, खंडवा, मुरैना, रतलाम, सागर, सिंगरौली एवं उज्जैन में 100 प्रतिशत टीकाकरण ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के आधार पर किए जाएंगे। स्लॉट बुकिंग के बाद भी लाभार्थी टीका लगाने उपस्थित नहीं होते हैं। ऐसी स्थिति में टीकाकरण केन्द्रों पर शेष वैक्सीन का उपयोग शाम 4 बजे के उपरांत ऑनसाइट बुकिंग के आधार पर किया जाए। इसकी संख्या 20 प्रतिशत से अधिक न हो।

कलेक्टर ले सकते हैं ऑनसाइट बुकिंग का निर्णय

परिपत्र में निर्देश है कि शेष जिला मुख्यालयों पर 100 प्रतिशत ऑनलाइन बुकिंग के आधार पर टीकाकरण किया जाए। परिपत्र में यह भी निर्देश है कि जिला मुख्यालय पर एक से अधिक स्थलों पर टीकाकरण सत्र संचालित होने की स्थिति में कुछ सत्रों को सुविधानुसार टीकाकरण के लिए जिला टीकाकरण अधिकारी की अनुशंसा पर कलेक्टर द्वारा ऑनसाइट बुकिंग का निर्णय लिया जा सकता है। परिपत्र में जिला मुख्यालयों को छोड़कर प्रदेश के शेष समस्त ग्रामीण अंचलों में कोविड-19 वैक्सीनेशन 100 प्रतिशत ऑनसाइट बुकिंग के माध्यम से किया जाएगा। ऑनसाइट सत्र स्थलों पर टोकन सिस्टम की व्यवस्था की जाए, जिससे पहले आने वाले व्यक्ति का पहले वैक्सीनेशन किया जा सके। शासकीय टीकाकरण केन्द्रों पर कार्यरत अधिकारी/कर्मचारी के परिवार के सदस्यों एवं आश्रित सदस्यों का टीकाकरण उसी केन्द्र में किया जा सकता है। सभी निर्देश शासकीय टीकाकरण सत्रों में लागू होगा।

Powered by Blogger.