REWA : पहले की मारपीट फिर दिखाई ताकत : पीड़ित पर भी पुलिस ने दर्ज कर दिया मामला .... खुद को न्यायप्रिय बताने की कोशिश कर रही रीवा पुलिस

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा। शहर के सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल में जूनियर डॉक्टरों ने एसएएफ जवान की जमकर पिटाई कर दी। वह यहां कंपनी कमांडर का अटेंडर बनकर आया था। तबीयत खराब होने पर वह खुद का चेकअप करवाने डॉक्टरों के पास पहुंचा। जवान ने जल्दबाजी दिखाई तो डॉक्टर भड़क गए। उन्होंने अन्य जूनियर डॉक्टरों को बुलाकर उसकी पिटाई कर दी। उसने डायल 100 को कॉल किया तो मोबाइल भी छुड़ा दिया। इसके बाद लात-घूंसों और बेल्ट से उस पर टूट पड़े। यही नहीं, बाद में हड़ताल की भी धमकी दी।

आप पार्टी के जिलाध्यक्ष प्रमोद शर्मा पर आधा दर्जन बदमाशों ने किया जानलेवा हमला, सेमरिया विधायक केपी त्रिपाठी पर लगाया आरोप

जानकारी के मुताबिक आकाश साहू एसएएफ का जवान है। वह स्टेट औद्योगिक सुरक्षा बल भटलो में पदस्थ है। वह कंपनी कमांडर पीसी निहाल का इलाज कराने श्याम शाह मेडिकल कॉलेज के सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल गुरुवार दोपहर आया था। यहां वह शाम 5 से 6 बजे के बीच सोचा कि खुद का भी चेकअप करवा लूं। वह प्राइवेट समस्या लेकर जूनियर डॉक्टरों के पास पहुंचा। जहां उसने समस्या चिकित्सकों को बताई। देरी होने पर उसने कंपनी कमांडर के साथ आने का हवाला दिया।

रिमही जनता पूछती है ? ..साहब, कहां से आते हैं तमंचे

पुलिस का नाम सुनते ही डॉक्टर भड़क गए। इसके बाद अन्य वार्डों में तैनात करीब 12 से 15 डॉक्टरों को बुलाकर मारपीट शुरू कर दी। उसने फोन लगाने की कोशिश की, तो फोन जब्त कर बंधक बना लिए। रात करीब 8 बजे के बाद अन्य वार्डों के लोगों ने डायल 100 और अमहिया पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने दोनों पक्षों को शांत करवाया। देर रात तक मामले में कार्रवाई नहीं हो सकी।

हड़ताल की धमकी

जूनियर डॉक्टरों ने जवान को पीटते समय भी कहा था कि होशियारी करोगे, तो हड़ताल कर देंगे। वहीं, इंदौर में ​कलेक्टर और चिकित्सकों की बहस के बाद हड़ताल का मामला सामने आ चुका है। ऐसे में ​रीवा जिला प्रशासन नई मुसीबत नहीं लेना चाहता है। वहीं, पीड़ित का कहना है कि जब डॉक्टर एक पुलिस वाले का पीट सकते हैं, तो आम जनता से कैसा व्यवहार करते होंगे। वह कार्रवाई की मांग पर अड़ा है।

ग्राहक बनकर केक लेने पहुँचे नायब तहसीलदार, शटर के नीचे से दे दिया सामान : फिर ...

अस्पताल के बाद हॉस्टल में एक युवक को पीटा

दावा किया जा रहा है कि अस्पताल में पुलिस जवान को पीटने वाले चिकित्सक हॉस्टल में भी एक युवक की भी पिटाई की है। यहां उन्होंने चोरी का आरोप लगाकर पीटा है।

खबर अपडेट 

रीवा पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार सिंह मारपीट के मामले को लेकर हुए सख्त एसपी के निर्देश पर अमहिया थाना प्रभारी शिवा अग्रवाल ने अस्पताल सहित हॉस्टल में हुई दो अलग अलग मारपीट की घटनाओं में 7 नामजत चिकित्सकों सहित अन्य पर दर्ज किया मामला, पुलिस की इस कर्यवाई से जुड़ा में हड़कम्प, बोले एसपी कोई भी हो अपराध अपराध होता है जो बर्दास्त नही किया जाएगा कानून के दायरे में रहे, जो कानून ब्यवस्था बिगाड़ेगा वो कर्यवाई का हकदार होगा।

इन जूनियर डॉक्टर के खिलाफ दर्ज हुआ अपराध

एसआईएसएफ जवान आकाश साहू के साथ मारपीट करने वाले जूनियर चिकित्सकों के खिलाफ मामला दर्ज।  जूनियर डॉक्टर पृथ्वीराज सिंह, डॉ रवि पाटिल, डॉ देवेश गुप्ता, डॉ शिव शक्ति ,डॉ रजनीश मिश्रा, डॉक्टर अनिल चौहान, डॉक्टर अजय पाटीदार, डॉक्टर हृदेश दीक्षित और 4 अन्य के खिलाफ अमहिया थाने में दर्ज हुई एफआईआर, गुरुवार की शाम सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में उपचार कराने आए जवान  को बंधक बनाकर की थी मारपीट।

Powered by Blogger.