MP : छात्र ध्यान दें.. / 12वीं के एग्जाम पर निर्णय 1 जून को : परिस्थितियां अनुकूल होने पर पुराने पैटर्न से ही होंगे एग्जाम होंगे

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

भोपाल। मध्यप्रदेश में 12वीं की परीक्षा कैसे और कब होंगी, इस पर निर्णय 1 जून को होगा। यह बात स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) और सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री इंदर सिंह परमार ने सोमवार को कही। उन्होंने कहा, पहले सप्ताह में कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए 12वीं की परीक्षा के संबंध में निर्णय लिया जाएगा। परीक्षार्थियों के स्वास्थ्य और सुरक्षा को प्राथमिकता दी जाएगी।

1 जून से अनलॉक की हो रही शुरुआत / किस शहर में परिस्थिति के अनुसार क्या खुलेगा, यह 31 मई को होगा तय

स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा 12वीं की परीक्षा की तैयारियां पूर्व में ही कर ली गई हैं। फिलहाल, परीक्षा प्रणाली में परिवर्तन प्रस्तावित नहीं है। परिस्थितियां अनुकूल होने पर पुराने पैटर्न से ही एग्जाम होंगे।

MP-CG में थप्पड़ कंपटीशन : IAS मैडम ने दुकानदार को जड़ा थप्पड़ तो पुलिस ने दुकान में घुसकर की लाठी से जमकर पिटाई : वीडियो वायरल

परमार ने बताया कि केंद्र द्वारा 12वीं की परीक्षा और व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के लिए प्रवेश परीक्षाओं के प्रस्तावों पर चर्चा के लिए, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में वर्चुअली बैठक हुई। इसमें शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक', महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति जुबीन ईरानी, सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा और अध्यक्ष माध्यमिक शिक्षा मंडल रश्मि अरुण शमी समेत सभी राज्य/संघ राज्य क्षेत्रों के शिक्षा मंत्रियों, शिक्षा सचिवों और राज्य परीक्षा बोर्डों के अध्यक्ष शामिल थे।

कम संक्रमण वाले 6 जिलों को आज से कुछ ढील के साथ खोला : जानिये किस जिले को मिली कितनी ढील

राजनाथ सिंह से सीबीएसई की परीक्षा के संबंध में अनुरोध किया कि राज्य की जमीनी हकीकत देखते हुए परीक्षा के संबंध में उचित निर्णय लिया जाए। इसके साथ ही 18 से 45 वर्ष आयु वर्ग के शिक्षकों को वैक्सीनेशन में प्राथमिकता देने और विद्यार्थियों के वैक्सीनेशन के लिए त्वरित रणनीति बनाने के संबंध में अनुरोध किया गया।

31 मई तक बंद, कोई छूट नहीं; जून के पहले हफ्ते से ही चरणबद्ध तरीके से खोले जाएंगे जिले

12वीं की परीक्षाओं का प्रभाव राज्य की बोर्ड परीक्षाओं और देश भर में अन्य प्रवेश परीक्षाओं पर पड़ता है। इसे ध्यान में रखकर विभिन्न राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों से 25 मई तक लिखित में सुझाव मांगे गए हैं। राज्यों के इनपुट के आधार पर सभी छात्रों के हित में 12वीं कक्षा की परीक्षाओं के बारे में केंद्र सरकार द्वारा विचार किया जाएगा।

1 जून से खुलने लगेगीं शहर की एक्टिविटी : सबसे पहले किराना दुकानें खुलेंगी, फिर थोक कारोबार : रेस्टाेरेंट को मिलेगी टेक अवे की सुविधा

उल्लेखनीय है, कोविड-19 महामारी ने शिक्षा क्षेत्र, विशेषकर बोर्ड परीक्षाओं और प्रवेश परीक्षाओं समेत विभिन्न क्षेत्रों को प्रभावित किया है। वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए लगभग सभी राज्य शिक्षा बोर्डों, सीबीएसई और आईसीएसई ने 12वीं कक्षा की परीक्षा, 2021 को स्थगित कर दिया है। इसी तरह, राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) और अन्य राष्ट्रीय परीक्षा आयोजित करने वाले संस्थानों ने भी प्रोफेशनल पाठ्यक्रम प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा स्थगित कर दी है।

Powered by Blogger.