MP : जिंदा मरीज को डॉक्टर ने घोषित किया मृत, अंतिम संस्कार की तैयारी में लगे थे घर वाले...फिर

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

ग्वालियर। कोरोना के कारण हो रही मौतों के बीच आए दिन स्वास्थ्य विभाग के ऐसे कारनामें भी सामने आ रहे है जो कि काफी हैरान कर देते हैं। ऐसे ही एक मामले में एक निजी अस्पताल के डॉक्टर की बड़ी लापरवाही सामने आयी जब डॉक्टर ने एक मरीज को मृत घोषित कर दिया। लेकिन बाद में पता चला कि वह मरीज जिंदा है।

कोवीशील्ड का दूसरा डोज कितने दिन में लगना जरूरी? इंदौर में अधिकतम 56 तो उज्जैन-रीवा में 60 दिन बताए; सरकारी वेबसाइट पर भी दो जवाब

यह ग्वालियर के मुरार क्षेत्र के किसनपुरी का मामला है, जहां कोरोना पीड़ित एक मरीज को निजी अस्पताल के डॉक्टर ने मृत किया था, मौत की जानकारी के बाद परिजन उसके अंतिम संस्कार की तैयारी में लग गए। बाद में पता चला कि उस मरीज की अभी भी सांसे चल रही है।

लॉकडाउन को लेकर कलेक्टर और एसपी सख्त : सुबह 6 बजे से लगातार भ्रमण जारी, मेडिकल, क्लीनिक और पैथोलॉजी का किया औचक निरीक्षण

इस घटना ने एक बार फिर स्वास्थ्य विभाग पर सवाल खड़े कर दिए हैं, कोरोना काल में न सिर्फ सरकारी बल्कि निजी अस्पतालों में भी ऐसी लापरवाही सामने आ रही हैं, ऐसे में जनता के सामने कई सवाल खड़े हो जाते हैं कि आखिर जाएं तो कहां, और विश्वास करें तो किस पर?

Powered by Blogger.