कोवीशील्ड का दूसरा डोज कितने दिन में लगना जरूरी? इंदौर में अधिकतम 56 तो उज्जैन-रीवा में 60 दिन बताए; सरकारी वेबसाइट पर भी दो जवाब

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

वैक्सीन की कमी के बाद पहला डोज लगवा चुके लोगों के दूसरे डोज को लेकर टाइमिंग बढ़ाए की चर्चाओं से पसोपेश बढ़ गया है। दिल्ली से देहात तक यही हाल है। केंद्र सरकार की वेबसाइट ही दो तरह के जवाब दे रही है, तो अंचल तक अफसरों भी अलग-अलग जवाब दे रहे हैं। केंद्र सरकार की वेबसाइट पर सवाल-जवाब फॉर्मेट आज तक बदला नहीं गया है।

कोरोना कर्फ्यू में मनमाने दाम वसूल रहे दुकानदार : 120 का रिफाइंड 150 रुपए में, सरसों का तेल भी 130 से बढ़कर 170 रु. पर पहुंचा

https://www.mygov.in/covid-19 पर आज भी 28 दिन का अंतराल ही रखना बता रहा है, जबकि दूसरी जगह कहा गया है कि ‘यह सलाह दी जाती है कि कोवैक्सिन की दूसरी डोज, पहली डोज के 4 से 6 सप्ताह के अंतराल पर ली जानी चाहिए। कोवीशील्ड के लिए यह अंतराल 4 से 8 सप्ताह करने की सलाह दी जाती है। हालांकि 6-8 सप्ताह के अंतराल से सुरक्षा बढ़ जाती है। आप अपने सुविधा के अनुसार दूसरे डोज की दिन चुन सकते हैं। दरअसल, वेबसाइट के मुख्य पेज से शुरुआती डेटा को वेबसाइट से नहीं हटाने से यह दुविधा पैदा हो रही है।

पति- पत्नी के बीच घरेलू विवाद : साले ने जीजा को दी फोन पर धमकी फिर जीजा ने कट्टे से साले को मार दी गोली

मध्यप्रदेश में टीकाकरण अधिकारी डॉ. संतोष शुक्ला कहते हैं कि कोवीशील्ड को वैसे तो अधिकतम 56 दिन में लगवा लेना चाहिए, लेकिन इसके बाद भी लग सकता है। अपनी बात में वे एक लाइन जोड़ देते हैं कि ज्यादा समय होने से जरूर प्रभाव पर असर पड़ सकता है। दैनिक भास्कर ने मध्यप्रदेश के अलग-अलग शहरों के स्वास्थ्य और वैक्सीनेशन अफसरों से बात की।

खंडवा में को-वैक्सीन के लिए लौटाया

खंडवा के आनंद नगर की मधुबाई व जगदीश कुमार ने बताया, उन्हें को-वैक्सीन का पहला डोज 1 अप्रैल को लगा था। शनिवार को अस्पताल गए, तो स्टाफ ने कहा कि अब 17 मई को आना। को-वैक्सीन का दूसरा डोज 28 से 42 दिन में लेना होता है। 17 मई तक 47 दिन हो जाएंगे, जबकि सीएमएचओ खुद कह रहे हैं कि को वैक्सिन का 42 दिन में डोज लग जाना चाहिए।

हाई-वोल्टेज ड्रामा / बेवजह घूमने पर रोका तो महिला बोली- कार में हवा भराने आई थी.. SDM, तहसीलदार से भी बदतमीजी; एक घंटे थाने पर बैठाकर छोड़ा

सहूलियत और सप्लाई के हिसाब से डोज

कोवीशील्ड के लिए इंदौर के अफसर ने अधिकतम 56 दिन सही बताए तो उज्जैन में अधिकतम 60 दिन सही बताए हैं। को-वैक्सिन को लेकर इंदौर, गुना, उज्जैन में अधिकतम 42 दिन बताए तो जबलपुर में अधिकतम 35 दिन ही सही बताया जा रहा है। यह जवाब वहां के वैक्सीनेशन और सीएमएचओ से बातचीत में आई है।

शादी के पहले दुल्हन लापता, नाराज दूल्हे ने शादी कराने वाले बिचौलियों की मारपीट कर चलती गाड़ी से फेंक दिया

इंदौर के टीकाकरण अधिकारी प्रवीण जड़िया का कहना है कि कोवैक्सिन की दूसरी डोज अधिकतम 4 से 6 हफ्ते (यानी 42 दिन) में लग जानी चाहिए। कोवीशील्ड के लिए यह टाइमिंग 6 से 8 सप्ताह निर्धारित है यानी 56 दिन।

भोपाल से इन जगहों के लिए शुरू होने जा रही स्पेशल ट्रेन, पढ़ ले ये काम की खबर

गुना सीएमएचओ डॉ. पी. बुनकर ने कहा कि कोवीशील्ड का दूसरा टीका 42-56 दिन के बीच मे लगवा लेना चाहिए। कोवैक्सिन का 28-42 दिन के बीच में।

पहली बार एक्टिव केस 1 लाख के पार : कोरोना मरीजों की संख्या 7 दिन में 15,297 बढ़ी, इसमें इंदौर अव्वल

छिंदवाड़ा के टीकाकरण अधिकारी एलएन साहू ने बताया, कोवीशील्ड का दूसरा डोज 6 से 8 हफ़्ते (42 से 56 दिन) के बीच लग जाना चाहिए। वहीं, को वैक्सिन 4 से 6 हफ्ते (28 से 42 दिन) में लगाया सकता है।

उज्जैन-रीवा में अधिकतम 60 दिन...

इधर, उज्जैन CMHO खंडेलवाल का कहना है कि को वैक्सिन 28 से 42 दिन के बीच लग जानी चाहिए, तो कोवीशील्ड के लिए उन्होंने अधिकतम 42 to 60 दिन बताए। रीवा के डॉ. एमएल गुप्ता का कहना है कि कोवीशील्ड अधिकतम 60 दिन में लग जानी चाहिए।

Powered by Blogger.