REWA : कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी के विशेष प्रयासों से संजय गांधी में 20 दिनों में 716 ऑक्सीजन सप्लाई एवं ICU, HDU बेड की व्यवस्था की गई

रीवा। जिले में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिये कई तरह के उपाय किये जा रहे हैं। इसके साथ-साथ कोरोना पीडि़तों के उपचार के लिये भी उचित व्यवस्था की जा रही है। कोरोना संक्रमण बढ़ने के साथ गंभीर रोगियों के उपचार के लिये व्यवस्थाओं में भी तेजी से वृद्धि की गई। संजय गांधी हास्पिटल रीवा में अप्रैल के प्रथम सप्ताह में 210 आईसीयू, एचडीयू तथा ऑक्सीजन सप्लाई बेड एवं 14 वेंटिलेटर उपलब्ध थे। इस हास्पिटल में कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी के विशेष प्रयासों से केवल 20 दिनों में 716 ऑक्सीजन सप्लाई एवं आईसीयू, एचडीयू बेड की व्यवस्था की गई। साथ ही 72 वेंटिलेटर आईसीयू बेडों की भी व्यवस्था की गई। जिनमें गंभीर रोगियों का उपचार किया जा रहा है। होम आईसोलेशन में उपचार करा रहे कम संक्रमित व्यक्तियों को जिला स्तरीय कोविड कमाण्ड सेंटर से उपचार के संबंध में प्रतिदिन सलाह दी जा रही है।

हर ओर से मिल रहा सहयोग/ दवा विक्रेताओं ने कोरोना पीडि़तों के लिये दिये तीन लाख

इस संबंध में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एमएल गुप्ता ने बताया कि जिले में 215 बिना ऑक्सीजन वाले आइसोलेशन बेड उपलब्ध हैं। अस्पताल में 493 ऑक्सीजनयुक्त आइसोलेशन बेड तथा 223 आईसीयू तथा एचडीयू बेड उपलब्ध हैं। इनके अलावा 72 वेंटिलेटर भी उपलब्ध हैं। संजय गांधी हास्पिटल से तीन वार्डों को सुपर स्पेशिलिटी हास्पिटल में स्थानांतरित करके कोरोना रोग से गंभीर रूप से पीडि़त व्यक्तियों के लिये संजय गांधी हास्पिटल में अतिरिक्त बेड की व्यवस्था की गई है। इसके साथ-साथ कुशाभाऊ ठाकरे जिला चिकित्सालय में भी ऑक्सीजन सप्लाई बेडों तथा आईसीयू बेडों की व्यवस्था की गई है।

कमिश्नर एवं कलेक्टर का निरीक्षण लगातार जारी, कोरोना रोगियों के उपचार के लिये मिलेंगे अतिरिक्त बेड

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि संजय गांधी हास्पिटल में उपलब्ध 215 बिना ऑक्सीजन वाले आइसोलेशन बेड में 54 रोगी उपचार करा रहे हैं तथा 161 बेड उपलब्ध हैं। जिले में 3 मई की स्थिति में ऑक्सीजन युक्त 493 बेड में 386 पर रोगियों का उपचार किया जा रहा है। इनमें 107 बेड खाली हैं। हास्पिटल के 223 आईसीयू तथा एचडीयू बेड पूरी तरह से भरे हुये हैं। इस वार्ड में कोई भी बेड खाली नहीं है। संजय गांधी हास्पिटल में 72 वेंटिलेटर बेड हैं। 

जिले में एक मई को 342 लोगों ने कोरोना को हराया : एक्टिव केस 2394

इनमें से 49 पर गंभीर रोगियों का उपचार किया जा रहा है। 23 बेड अभी रिक्त हैं। संजय गांधी हास्पिटल तथा सुपर स्पेशिलिटी हास्पिटल में पर्याप्त मात्रा में मेडिकल ऑक्सीजन भण्डारित है। नये ऑक्सीजन प्लांट तथा ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर मशीनों से भी अतिरिक्त ऑक्सीजन आपूर्ति की व्यवस्था कर दी गई है। कोरोना के उपचार के लिये दवायें तथा अन्य उपकरण पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं।

Powered by Blogger.