MP : 4 जून को नहीं खुलेंगी सभी दुकानें : पिछले साल की तरह ऑड-ईवन पद्धति से खुलेंगी दुकानें, जिले को अनलॉक करने की तैयारी शुरू

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

मुरैना जिले को अनलॉक करने की तैयारी जिला प्रशासन ने कर ली है। 4 जून को जिले को अनलॉक कर दिया जाएगा। अनलॉक के दौरान सभी दुकानें एक साथ नहीं खोली जाएंगी। दुकानों को पिछले वर्ष की तरह ऑड-ईवन पद्धति से खोला जाएगा। यानि दुकानों के बीच में इतनी दूरी रहे जिससे संक्रमण न फैल सके। इसके लिए 1, 2, 3 और 1, 2, 3 नंबर डाले जाएंगे।

CM का संबोधन : कहा- प्रदेश में सुविधाओं को देखते मिली छूट, 15 जून तक जारी रहेगा कर्फ्यू : शनिवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक जनता कर्फ्यू

जिला प्रशासन को जिले को अनलॉक करना जरूरी हो गया है। इसके पीछे मुख्य कारण एक तरफ कोरोना संक्रमितों की संख्या कम होना और दूसरी तरफ जिलेवासियों का धैर्य का जवाब देना बताया जा रहा है। अन्य जिले भी अनलॉक हो रहे हैं। ऐसे में मुरैना जिले को चार जून को हर-हाल में अनलॉक करने की बाात कही जा रही है।

इस तरह से अनलॉक होगा जिला

(1) जिले के बाजारों में मौजूद सभी दुकानों को ऑड-ईवन पद्धति से खोला जाएगा। यानि खुलने वाली दुकानों के बीच में पर्याप्त दूरी रहेगी, जिससे संक्रमण फैलने की गुंजाइश बहुत कम हो।

(2) कृषि कार्यों से संबंधित सभी दुकानों को खोला जाएगा। जैसे बीज, खाद, कीटनाशक आदि। इससे कृषि कार्य प्रभावित न हो और किसानों को बार-बार बाजार में न आना पड़े।

(3) चार पहिया वाहन व निजी बसों का परिचालन शुरू किया जाएगा। इसके अभाव में लोग प्रभावित हो रहे हैं।

(4) स्कूल, कॉलेज, कोचिंग संस्थान, मंदिर, मस्जिद को बंद रखा जाएगा।।

(5) सार्वजनिक कार्यक्रमों या जिन में भीड़ की संभावना हो, उन्हें पूरी तरह से प्रतिबंधित किया जाएगा। शादी, शव यात्रा व गंगभोज में निर्धारित संख्या के साथ छूट दी जाएगी।

अनलॉक से पहले यह होगी प्रक्रिया

1-जिले के सभी एसडीएम व एसडीओपी की आज बैठक होगी। इसमें वह कलेक्टर व एसपी के साथ अनलॉक को लेकर अपने पिछले साल के अनुभव साझा करेंगे। सभी अधिकारियों से अनलॉक को लेकर राय मांगी जाएगी और उस पर एकमत राय बनाई जाएगी।

ट्रक में आम की बोरियों के नीचे पकड़ाया 6 करोड़ का गांजा, 3 हजार 92 किग्रा गांजा पकड़ा, 3 आरोपी गिरफ्तार

2- 2 जून को जिले के कलेक्टर व एसपी सहित सभी वरिष्ठ अधिकारी जिले के अंचल में जाएंगे। वहां की वास्तविक स्थिति का जायजा लेंगे। उसके बाद वहां तैनात अफसरों से राय लेंगे। इसके बाद अनलॉक की रूपरेखा बनाई जाएगी। उस रुपरेखा को अगले दिन 3 जून को केन्द्रीय व जिले के प्रभारी मंत्री के साथ आपदा प्रबंधन की बैठक में रखा जाएगा। मंत्रियों से अनलॉक को लेकर दिशा निर्देश प्राप्त किए जाएंगे। उसी दिन शाम को सात बजे जिला प्रशासन द्वारा अनलॉक को लेकर मीडिया द्वारा शहरवासियों के लिए आदेश जारी कर दिए जाएंगे।

Powered by Blogger.