REWA : मनगवां और चोरहटा पुलिस की ताबड़तोड़ कार्यवाही जारी : 66 किलो गांजा समेत तीन आरोपी गिरफ्तार

रीवा। पुलिस के द्वारा मादक पदार्थों की अवैध बिक्री व परिवहन के खिलाफ चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत मनगवां और चोरहटा पुलिस ने अलग-अलग थाना क्षेत्रों में कार्रवाई कर लाखों रुपये कीमती गांजा पकड़ा है। की गई कार्रवाई में मनगवां पुलिस ने 3 आरोपितो सहित एक रेनाल्ट क्विड कार को जप्त किया है ।आरोपितो के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला पंजीबद्ध कर लिया है। पुलिस मामला पंजीकृत कर मामले की विवेचना शुरू कर दी है।

इंदौर से बिलासपुर जा रही नर्मदा एक्सप्रेस ट्रेन में युवती की गला काटकर हत्या : ट्रेन में मची अफरा-तफरी

मुखबिर की सूचना पर दी दबिश

वहीं चोरहटा पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर दबिश देने पहुंची तो बाइक सवार बदमाश पुलिस को देखकर गांजा फेंक कर भाग निकले है जिनके खिलाफ मामला पंजीबद्ध कर तलाश की जा रही है। लगभग सात लाख रुपये कीमत के गांजे के साथ तीन गिरतार मनगवां थाना प्रभारी निरीक्षक केपी त्रिपाठी को मुखबिर से सूचना मिली कि अवैध मादक पदार्थों की खेप रेनॉल्ट क्विड कार में लोड कर कुछ तस्कर थाना क्षेत्र से गुजरने वाले हैं।

रीवा कलेक्टर ने जिले वासियों से की अपील बोले - आजादी को जिम्मेदारी मानें, लापरवाही न करें, कोविड प्रोटोकाल का पालन करें

घेराबंदी कर मिली सफलता

सूचना मिलते ही थाना प्रभारी के नेतृत्व में उप निरीक्षक आरएन प्रजापति, सहायक उप निरीक्षक रुकमणी पांडेय, सहायक उपनिरीक्षक नारायण पांडेय, सहायक उपनिरीक्षक पद्मेश मिश्रा, सहायक उपनिरीक्षक सिया शरण रावत, आरक्षक अखिल सिंह बघेल, आरक्षक अरुणेंद्र सिंह, आरक्षक राजू पटेल और सैनिक नायक जोखुलाल साकेत की टीम ने घेराबंदी कर दी।

रीवा में 1 जून से ऐसे होगा अनलॉक : एक दिन राइट साइड की तो दूसरे दिन लेफ्ट साइड की दुकानें सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक खुलेंगी

देर से मिली सफलता

मुखबिर की सटीक सूचना के बाद पहले से मौजूद पुलिसकर्मियों को काफी देर से सफलता मिली तकरीबन 3 घंटे इंतजार के बाद उन्हें सूचना मिली कि युवक मौके पर पहुंच गए हैं जिसके बाद पुलिस सक्रिय हुई । कुछ ही समय में कार क्रमांक , एपी 17 सीसी48 91 पुलिस को रामपुर में मिली। जिसे घेराबंदी कर रोका गया और गाड़ी की तलाशी ले गई तो गाड़ी के अंदर अवैध मादक पदार्थ गांजा मिला। जिसका वजन कराया गया तो 66 किलो250 ग्राम निकला। जिसकी अनुमानित कीमत 6 लाख 58हजार रुपये बताई गई है।

कोरोना महामारी में स्कूले बंद, फिर भी 12 माह के भ्रमण भत्ता के नाम पर 25 लाख का घोटाला : CEO ने जारी की नोटिस : पढ़िए पूरा मामला

ये है आरोपित

पुलिस ने कार सवार युवकों से पूछताछ की। जिनकी पहचान अंकित पांडेय पुत्र राजेश पांडे निवासी ग्राम कठेरी थाना मनगवां, धीरेंद्र पांडेय उर्फ अंशु पुत्र शिवाकांत निवासी कठेरी और मनीष तिवारी पुत्र रघुनाथ तिवारी निवासी कठेरी के रूप में हुई है। पकड़े गए आरोपियों से पुलिस ने 3 मोबाइल 200 रु नकदी जब्त की है। आरोपियों के खिलाफ पुलिस एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला पंजीबद्ध किया है। बताया गया है कि पकड़े गए आरोपियों के विरुद्ध पूर्व में भी प्रतिबंधित गांजा बेचने का मामला पंजीबद्ध है।

Powered by Blogger.