REWA : 11 लाख की घूस लेते औद्योगिक विकास निगम के अफसर का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल

     

रीवा। MPIDC के एक अधिकारी का गुरुवार की सुबह से वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में रीवा औद्योगिक विकास निगम के क्षेत्रीय कार्यालय में पदस्थ प्रभारी कार्यकारी संचालक एपी सिंह बताए जा रहे हैं। जो 11 लाख रुपए की रिश्वत लेते दिखाई दे रहे हैं। आरोप है कि एपी सिंह ने धर्मपाल एण्ड कंपनी रोहतक हरियाणा को दिए गए औद्योगिक कार्यों पर कमीशन के तौर पर ठेकेदार से 11 लाख रुपए लिए थे।

हत्या का खुलासा : पत्नी के साथ गलत काम करना चाहता था चाैकीदार, इसलिए सिर में डंडा मारा, बाद में पत्नी ने चाकू से किए वार

दावा है कि हरियाणा की कंपनी ने रीवा के गुढ और सिंगरौली के बैढ़न में कराए जा रहे कार्य के एवज में संचालक एपी सिंह ने पैसे की मांग की थी। जिसको ठेकेदार द्वारा उनके घर में जाकर दिया गया। हालांकि वीडियो वायरल होने के बाद एपी सिंह द्वारा अपने बचाव में उन्हीं से वीडियो जारी कराया है। जारी ​वीडियो में विनोद कुमार सचिव धर्मपाल एण्ड कंपनी रोहतक हरियाणा ने बताया कि ये रिश्वत का कोई पैसा नहीं है। बल्कि बालू ठेकेदार श्रीकांत चतुर्वेदी का पैसा है। जो सप्लाई के माल का पैसा था।

मनगवां और चोरहटा पुलिस की ताबड़तोड़ कार्यवाही जारी : 66 किलो गांजा समेत तीन आरोपी गिरफ्तार

कौन है एपी सिंह

बता दें कि औद्योगिक विकास निगम क्षेत्रीय कार्यालय में पदस्थ प्रभारी कार्यकारी संचालक एपी सिंह अक्सर चर्चा में रहते हैं। वे सतना जिले में जनपद पंचायत सीईओ की पदस्थापना के दौरान भ्रष्टाचार के मामले में विवादों में रहे। इसके बाद वे MPIDC कार्यालय पहुंच गए। जहां पर तबादले के बाद अभी कोर्ट के स्टे पर जमे हुए हैं। खुद को विंध्य के एक बड़े भाजपा नेता का रूम मैट व कांग्रेस नेता का करीबी बताते हैं। कुछ लोगों का आरोप है कि अधिकारी के भाई पुलिस विभाग में हैं। वे मामले को मैनेज करने अब ठेकेदार पर दबाव बना रहे है। ऐसे में बचाव के लिए वीडियो का काउंटर वार किया गया है।

Powered by Blogger.