MP : दोस्ती की मिसाल : रीवा मेडिकल कॉलेज के MBBS छात्रों ने पेश की मिसाल : छात्र की मौत बाद उसकी याद में कैंपस को बना डाला पार्क : नाम दिया रौनक उपवन

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा मेडिकल कॉलेज के MBBS छात्रों ने मिसाल पेश की है। अपने खोए दोस्त की याद में उन्होंने कैंपस में पार्क ही बना दिया। साथी छात्र की नहर में नहाने के दौरान डूबकर मौत हो गई थी। उसे पेड़-पौधो से लगावा था, इसलिए उसके दोस्तों ने श्रमदान किया और पेड़-पौधे लगाए। अब पार्क पूरी तरह से तैयार है। इसका शुभारंभ करने के लिए जल्द ही छात्र के माता-पिता आएंगे।

ट्रांसपोर्ट संचालक ने युवती को डबल सैलरी का लालच देकर होटल में बुलाया, फिर काॅफी में नशीला पदार्थ पिलाकर किया दुष्कर्म

बता दें​ कि डॉ. रौनक भंडारी मध्यप्रदेश के खरगोन​ जिले के रहने वाले थे, जो श्याम शाह मेडिकल कॉजेल से MBBS फाइन ईयर का स्टूडेंट थे। एग्जाम खत्म होने के बाद 6 मार्च 2021 की शाम डॉ. रौनक भंडारी अपने दोस्तों के साथ सिलपरा नहर में पिकनिक मनाने गया थे। सिलपरा नहर में सभी दोस्त नहाने के लिए उतरे। इसी बीच रौनक पानी के तेज बहाव में बह गए और पानी में डूबने से उनकी मौत हो गई।

रीवा गोलीकांड : संजय गांधी अस्पताल पहुंचकर FSL यूनिट ने मृतक के लिए नमूने, युवक ने खुद गोली चलाई या दोस्तों ने मारी, जानकारी जुटाने में जुटी पुलिस

पौधों से था बेहर प्यार

साथी छात्रों ने बताया कि वह अक्सर पर्यावरण की बात करते थे। साथ ही मेडिकल की पढ़ाई के समय साथियों के बीच पर्यावरण प्रेमी के रूप में पहचान थी। सहपाठियों का कहना है कि वे हास्टल से लेकर कॉलेज तक बेहद सरल और सहज स्वभाव का थे। उसे पौधों से बेहर प्यार था। ऐसे में दोस्तों ने तय किया कि रौनक की याद में कॉलेज परिसर के अंदर पौधे तैयार किए जाएं।

युवक ने देश के खिलाफ किया भड़काऊ पोस्ट : सऊदी अरब से लौटने पर सोशल मीडिया पर लिखा- रीवा खान भाई, अमिरती छोटा पाकिस्तान : प्यार से पेश आओगे तो दिल से लगा लूंगा, वरना अकड़ दिखाओ गे तो जड़ से उखाड़ दूंगा

परिवार वाले करेंगे शुभारंभ

मेडिकल के सीनियर छात्रों ने बताया कि शुरुआती दौर में ही मेडिकल प्रबंधन और सीनियर छात्रों की स​हमति के बाद श्रमदान से पार्क बनाने का निर्णय लिया गया था। फिर कॉलेज के सीनियर डॉक्टरों ने मार्गदर्शन कर पार्क को रौनक उपवन बना दिय। उपवन तैयार कराने में दोस्तों से लेकर मेडिकल प्रबंधन ने फूलों के साथ ही फलदार पौधे भी लगाए गए है। अब डॉ. रौनक भंडारी के परिवार वालों से समय लेकर शुभांरभ की रूपरेखा बनाई जाएगी।

Powered by Blogger.