MP : CBSE ने 10वीं और 12वीं के सिलेबस में किया महत्वपूर्ण बदलाव : पढ़ लिजिए ये जरुरी खबर

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) ने साल 2021-22 के एकेडमिक सेशन के लिए 10वीं और 12वीं के सिलेबस में महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं। इसके तहत साल 2021 के बैच के लिए बोर्ड परीक्षाएं दो टर्म में आयोजित की जाएंगी।

बड़ा फैसला : CM शिवराज ने कहा, कोरोना की तीसरी लहर खत्म होने के बाद ही खुलेंगे स्कूल

CBSE ने सोमवार को जारी सर्कुलर में बताया कि 2021-22 के एकेडमिक सेशन को दो टर्म में बांटा गया है। प्रत्येक टर्म में 50% सिलेबस को कवर किया जाएगा। पहले टर्म की परीक्षा नवंबर-दिसंबर और दूसरे टर्म की परीक्षा मार्च-अप्रैल में होगी। ये टर्म एग्जाम 90 मिनट की अवधि के होंगे। इसकी अधिसूचना इसी महीने जारी कर दी जाएगी।

इनाम का सपना अधूरा : वैक्सीनेशन के महाअभियान में शामिल हुए 50 विजेता इनाम के लिए 14 दिन बाद भी भटक रहे

दोनों टर्म के आधार पर तैयार होगी मार्क्सशीट

बोर्ड हरेक टर्म के आखिर में बंटे हुए सिलेबस के आधार पर परीक्षाएं लेगा। बोर्ड प्रश्न पत्र तैयार करके इन्हें स्कूलों को भेज देगा। आंसरशीट के मूल्यांकन की प्रक्रिया भी बोर्ड ही तय करेगा। ये परीक्षाएं बाहर से भेजे गए सेंटर सुप्रिटेंडेंट और ऑब्जर्वर्स की निगरानी में आयोजित की जाएंगी। बच्चे पहले और दूसरे टर्म में जो नंबर हासिल करेंगे, उनके आधार पर अंतिम मार्क्सशीट तैयार किया जाएगा।

सिंधिया को दिखाए गए काले झंडे, पुलिसकर्मियों ने छीना महिला का दुपट्टा : फिर ...

इसके साथ ही 9वीं-10वीं के लिए इंटरनल असेसमेंट (पूरे साल टर्म I और टर्म II के बावजूद) में 3 पीरियोडिक टेस्ट, स्टूडेंट एनरिचमेंट, पोर्टफोलियो और प्रेक्टिकल वर्क, बोलने और सुनने की गतिविधियां शामिल होंगी। 11वीं -12वीं के लिए इंटरनल असेसमेंट (वर्ष भर में टर्म I और टर्म II की अवधि के अलावा) में टॉपिक एंड या यूनिट टेस्ट, रिसर्च एक्टिविटी, प्रेक्टिकल वर्क और प्रोजेक्ट वर्क शामिल की जाएंगी।

10 जुलाई से विशेष ट्रेन शुरू : बीना, भोपाल, हबीबगंज, इटारसी, हरदा और खंडवा में रुकेगी ये ट्रेन : पढ़िए जरुरी ख़बर

कोरोना के चलते लिया फैसला

CBSE ने स्कूलों को स्टूडेंट की प्रोफाइल तैयार करने को भी कहा है। स्कूल साल भर में किए गए सभी असेसमेंट के लिए स्टूडेंट्स की प्रोफाइल तैयार करेंगे और उसका डिजिटल फॉर्मेट बनाएंगे। बोर्ड ने कहा है कि जब तक स्कूलों में व्यक्तिगत रूप से पढ़ाने की की अनुमति नहीं देते हैं, तब तक स्कूल डिस्टेंस मोड में पढ़ाना जारी रखेंगे।

कक्षा 9वीं की छात्रा के साथ नौ माह से हो रहा था सामूहिक दुष्कर्म : तीन नाबालिग समेत चार आरोपित गिरफ्तार

CBSE ने कोरोना महामारी को देखत हुए यह फैसला किया है। 2022 की 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षाओं की योजना के बारे में CBSE ने कहा कि इंटरनल असेसमेंट और प्रोजक्ट वर्क को और ज्यादा विश्वसनीय और वैलिड बनाने के प्रयास जारी रहेंगे। इससे पहले बोर्ड ने इस साल होने वारी 10वीं-12वीं की परीक्षा भी कोरोना के चलते रद्द कर दी थी।

Powered by Blogger.