MP : माँ ने अपने तीन बच्चों को कुएं में फेंककर खुद कूदकर दे दी जान : जानिए वजह

टीकमगढ़ जिले में एक मां और उसके तीन बेटों की कुएं से लाश मिली है। मां अपने बेटों के साथ रविवार से लापता थी। तलाशी के दौरान रात को पति ने गांव के पास कुएं में देखा तो पत्नी का शव दिखा। सोमवार सुबह खरगापुर और बल्देवगढ़ थाना पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को कुएं से बाहर निकाला। बच्चों की उम्र 1 से 6 साल के बीच की है। पुलिस के मुताबिक मामला सुसाइड का है। उसने पहले बच्चों को कुएं में फेंका और बाद में खुद कूदकर जान दे दी।

रीवा,भोपाल- इंदौर- ग्वालियर समेत फीस और स्कूल खोलने के मुद्दे को लेकर आज प्राइवेट स्कूलों की हड़ताल : इन जिलों में यह स्थिति

पुलिस ने बताया कि भेलसी गांव निवासी भारती (25) पति नंदकिशोर कुशवाहा रविवार सुबह करीब 10.30 बजे अपने बेटे ब्रजगोपाल (6) हरिचंद्र (3) आकाश (1) को लेकर घर में किसी को बताए बगैर कहीं चली गई। वह शाम तक घर नहीं लौटी तो पति नंदकिशोर ने तलाश शुरू की, लेकिन कहीं नहीं मिली। इस पर रविवार रात करीब 8 बजे बल्देवगढ़ थाना पहुंचकर पति ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। रात के समय वह अपनी पत्नी और बेटों की तलाश में जुटा रहा।

MP में भी अलर्ट जारी : लखनऊ में दो आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दिए निर्देश

इसी बीच रात करीब 2 बजे गांव के पास कुएं में पति नंदकिशोर ने झांका तो उसे पानी के ऊपर शव नजर आया। शव देख नंदकिशोर थाने पहुंचा और मामले की जानकारी दी। सोमवार सुबह बल्देवगढ़ थाना पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन घटनास्थल खरगापुर थाना क्षेत्र का था। ऐसे में खरगापुर पुलिस को सूचना दी गई। इसके बाद दोनों थानों की पुलिस ने कुएं से पहले महिला का शव निकाला। इसके बाद सर्चिंग की गई। सर्चिंग में कुएं से तीनों बेटों के शव बरामद किए गए। मामले में खरगापुर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

प्यार में धोखा इसलिए ठोंका : ब्रेकअप के बाद युवक ने गर्लफ्रेंड, उसके मामा और पड़ोसी को घर में घुसकर मारी गोली : फिर खुद आत्महत्या कर ली

बल्देवगढ़ थाना प्रभारी अमित साहू ने बताया कि घर से लापता महिला और उसके तीन बेटों के शव कुएं में मिले हैं। घटनास्थल खरगापुर थाने का था। उन्हें सूचना दी है। प्रथमदृष्टा मामला सुसाइड का है। मां ने पहले बच्चों को कुएं में फेंका होगा और खुद कूदकर जान दी होगी, क्योंकि शरीर पर चोट के कोई निशान नहीं हैं। महिला मानसिक रूप से बीमार थी। परिजनों के मुताबिक उसका ग्वालियर मेंटल हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था। महिला ने ऐसा कदम क्यों उठाया तो इसकी जांच की जा रही है।

Powered by Blogger.